न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

मुस्लिम से हिंदू बने धर्म सिंह बोले, न्‍याय चाहिए, मोदी जी के भारत में मुस्लिमों के साथ सही व्‍यवहार नहीं  

यूपी के बागपत जिले में अख्‍तर अली से धर्म सिंह बने शख्स ने कहा कि मोदी जी के भारत में मुस्लिमों के साथ सही व्‍यवहार नहीं होता, मुझे न्‍याय चाहिए.

209

 NewDelhi : यूपी के बागपत जिले में अख्‍तर अली से धर्म सिंह बने शख्स ने कहा कि मोदी जी के भारत में मुस्लिमों के साथ सही व्‍यवहार नहीं होता, मुझे न्‍याय चाहिए. बता दें कि बागपत जिले में पुलिस के रवैये से नाराज एक मुस्लिम परिवार ने कथित रूप से हिंदू धर्म अंगीकार कर लिया. जानकारी के अनुसार हिंदू युवा वाहिनी भारत द्वारा हवन कराकर 13 मुस्लिमों को विधिवत रूप से हिंदू धर्म स्वीकार कराया गया. धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों ने एसडीएम को इस संबंध में शपथ पत्र भी सौंपा है. जिलाधिकारी ने इस खबर की पुष्टि भी की. अख्‍तर अली से धर्म सिंह बने परिवार के सदस्‍यों के अनुसार वे लोग अपना धर्म इसलिए बदलने को विवश हुए क्‍योंकि पुलिस उनके मामले की जांच सही तरीके से नहीं कर रही थी. इसके अलावा मुस्लिम समुदाय के लोग भी उनके समर्थन में खड़ा नहीं हुआ.

eidbanner

जिलाधिकारी बागपत ऋषिरेंद्र कुमार ने जानकारी दी कि बड़ौत तहसील में कुछ लोगों ने अपनी इच्छा से धर्म परिवर्तन के लिए शपथ पत्र जमा किये हैं. कहा कि हत्या के एक मामले की विवेचना से पीड़ित परिवार के लोग संतुष्ट नहीं थे.

इसे भी पढ़ें :  माकपा के अखबार दैनिक देशार कथा को बंद करने का आदेश, माकपा भाजपा पर हुई हमलावर
Related Posts

बंगाल को तरजीह, सांसद अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के नेता होंगे

अधीर रंजन चौधरी के साथ-साथ केरल के नेता के सुरेश, पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी और तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर इस पद के लिए दौड़ में शामिल थे.

एसडीएम को शपथ पत्र देकर कहा कि सभी लेाग अपनी इच्छा से हिंदू धर्म स्वीकार कर रहे हैं

धर्म परिवर्तन को लेकर युवा हिंदू वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष शौकेंद्र खोखर ने जानकारी दी कि छपरौली थाने के बदरखा निवासी अख्तर छह-सात माह से निवाड़ा गांव के खुब्बीपुरा मोहल्ला में रह रहे हैं. अख्तर ने आरोप लगाया था कि कई माह पूर्व उसके बेटे गुलहसन की हत्या कर उसे आत्महत्या बनाने के लिए उसका शव फांसी पर लटका दिया गया था. गुहार के बावजूद पुलिस ने भी इसे आत्महत्या मान लिया. बागपत कोतवाली पुलिस से उन्हें न्याय नहीं मिला. उसके बाद अख्तर अपने परिवार के साथ तहसील पहुंचा और एसडीएम को शपथ पत्र देकर कहा है कि उसके परिवार के सभी लेाग अपनी इच़्छा हिंदू धर्म स्वीकार कर रहे हैं और नाम भी बदल लिये हैं. युवा हिंदू वाहिनी के अनुसार, मंगलवार सुबह बदरखा गांव में हवन और हनुमान चालीसा का पाठ के साथ मुस्लिम परिवार के 13 लोग हिंदू धर्म में आ गये् इनमें अख्तर अली, दिलशाद, नौशाद, नफीसा, जाकिर, और इरशाद सहित परिवार के अन्य  लोग शामिल है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: