Dharm-JyotishJharkhandLead NewsMain SliderNationalNEWSRanchiTOP SLIDERTop StoryTRENDING

Dhanteras 2022 : 27 वर्ष बाद दो दिन मनेगा धनतेरस का पर्व, जानें शुभ योग

Dhanteras 2022 : धनतेरस का पर्व इस बार 27 साल बाद दो दिन 22 और 23 अक्तूबर को मनाया जाएगा. धनतेरस को धन त्रयोदशी व धनवंतरि जयंती के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन धन के देवता कुबेर और धनवंतरि देव की पूजा अर्चना करने का विधान है. इस दिन सोना, चांदी, अथवा किसी भी धातु का बर्तन खरीदना बहुत ही शुभकारी माना जाता है. इसके साथ ही धनतेरस पर धन के कारक गुरु और स्थायित्व के कारक शनि स्वयं की राशि मीन एवं मकर में गोचर हो रहे हैं. मुहूर्त में प्रॉपर्टी में निवेश के साथ वाहन, जूलरी आदि की खरीदारी शुभ होगी. घरेलू व ऑफिस इस्तेमाल की जरूरी चीजें खरीदना भी शुभकारी रहेगा.

22 अक्तूबर को त्रिपुष्कर योग का संयोग

त्रिपुष्कर व ब्रह्म नाम के शुभ योग बन रहे हैं. इसमें कोई भी वस्तु खरीदी जा सकती है. इलेक्ट्रानिक्स, फर्नीचर, वाहन, बर्तन खरीदना शुभ होगा.

23 अक्तूबर को धनतेरस स्वयं सिद्ध

धनतेरस प्रदोष व्यापिनी तेरस के साथ उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र के कारण सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत योग रहेगा. अमृत चंद्रमा और ब्रहस्पति आमने-सामने होंगे. धनतेरस पर स्वर्ण आभूषण, चांदी, हीरा, वाहन, बर्तन, भवन, भूमि, वस्त्र सहित सभी वस्तुओं की खरीदारी मंगलकारी होगी.

धनतेरस की तिथि और खरीदारी का शुभ मुहूर्त

भारतीय वैदिक पंचाग के अनुसार इस वर्ष कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी ति​थि का प्रारंभ 22 अक्टूबर दिन शनिवार को शाम 04:32 बजे से हो रही हैं. वहीं 23 अक्टूबर की शाम 05:04 बजे तक त्रयोदशी तिथि समाप्त हो रही है. उदया तिथि के अनुसार 23 अक्टूबर को धनतेरस मनाई जा सकती है. ऐसे में पहले दिन प्रदोष काल (रात्रि) में और दूसरे दिन दिनभर खरीदारी होगी. इस दिन धनवंतरि देव की पूजा, मां लक्ष्मी और कुबेर का पूजन और सोना चांदी, बर्तन झाडू की खरीदारी कर शुभ एवं कल्याणकारी माना गया है.

इसे भी पढ़ें: दीदी नीलम आनंद स्मृति फुटबॉल टूर्नामेंट: राजा स्पोर्टस बरियातू बना विजेता

Related Articles

Back to top button