DhanbadJharkhandLead News

धनबाद : मटकुरिया-आरा मोड़ फ्लाईओवर व गया पुल चौड़ीकारण का काम जल्द होगा शुरू, सीएम हेमंत ने दिया निर्देश

Dhanbad : सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन धनबाद के लोगों में उम्मी़द की नई किरण जगा गए. लाभुकों के बीच परिसंपत्ति का वितरण करने के लिए आयोजित समारोह में उन्होंने मटकुरिया से आरा मोड़ तक (3.5 किलोमीटर) फ्लाईओवर बनाने की योजना तथा गया पुल चौड़ीकरण का कार्य शीघ्र शुरू करने की घोषणा की. वहीं आज मंगलवार को झारखंड मुक्ति मोर्चा व्यवसायिक प्रकोष्ठ के केन्द्रीय अध्यक्ष तथा JITA अध्यक्ष अमितेश सहाय ने मुख्यमंत्री से रांची में मुलाकात कर जल्द से जल्द धनबाद शहर को जाम की समस्या से छुटकारा दिलाने की मांग की.

आज झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिलकर अमितेश सहाय ने उनके द्वारा पूर्व में किये अनुरोध के आलोक में धनबाद की जटिल समस्या सड़क जाम से निजात दिलवाने हेतु गया पूल चौड़ीकरण और मटकुरिया से आरा मोड़ बाई पास निर्माण की घोषणा करने पर आभार व्यक्त किया. साथ ही गया पूल में रेलवे से हो सकने वाली समस्या के बारे भी विस्तार से बताया.

इसे भी पढ़ें:जीनोम सीक्वेंसिंग मशीन बताएगी बीमारी की क्या है स्थिति, कल से रिम्स में होगी टेस्टिंग

ram janam hospital
Catalyst IAS

जिसपर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तत्काल फ़ोन करके प्रधान सचिव को निर्देशित किया कि रेलवे का पक्ष समझें और अगर कोई कठिनाई होती है तो मुख्यमंत्री का रेल मंत्री से बैठक तय करवाये. जिससे वर्ष 2022 में ही शिलान्यास एवं निर्माण कार्य प्रारंभ किया जा सके.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

अमितेश सहाय ने मुख्यमंत्री को कोयलांचल की विभिन समस्याओं के संबंध में विस्तार से बताया और राज्य सरकार के विभाग के कड़े नियमों से व्यपारियो को हो रही समस्याओं से भी अवगत करवाया. इसके अलावे मुख्यमंत्री आवास में उपस्थित नीरज कुमार, पुलिस महानिर्देशक, झारखंड को धनबाद की विधि व्यवस्था को और चाक चौबंद करने का अनुरोध किया.

इसे भी पढ़ें:IAS पूजा सिंघल मामले ईडी ने 5 हजार पन्ने का चार्जशीट दाखिल किया

यहां बता दें कि धनबाद की 40 साल पुरानी समस्या को दूर करने के लिए अब रेलवे के एनओसी की जरूरत है. मुख्यमंत्री के घोषणा के बाद अब सबकी नजर गया पुल के चौड़ीकरण पर टिक गई है. पथ निर्माण विभाग को इसके चौड़ीकरण के लिए रेलवे से एनओसी को इंतजार है. मालूम हो कि गया पुल की वजह से शहर के एंट्री प्वाइंट में ही जाम की स्थिति हर दिन बनती है.

दूसरे राज्यों से धनबाद आने वाले लोगों के मन में शहर की खराब छवि भी बनती है. समय बदला, सरकारें बदली पर धनबाद में जाम की समस्या नहीं सुधरी. अब, 40 साल पुरानी समस्या पर अब प्रशासन से लेकर सरकार तक का ध्यान टूटा है.

इसे भी पढ़ें:जेपीएससी में अमिताभ चौधरी का आज आखिरी दिन, छह जुलाई से पद हो जाएगा खाली

Related Articles

Back to top button