Dhanbad

#Dhanbad: निचितपुर नर्सिंग होम के खिलाफ ग्रामीणों ने किया हंगामा, टायर जलाकर जाम की सड़क

विज्ञापन

Dhanbad: जिले के बाघमारा न्यू केशलपुर के ग्रामीणों ने शनिवार को जमकर हंगामा किया. गांव के अंदर निचितपुर नर्सिंग होम के खिलाफ लोगों ने हंगामा किया. ग्रामीणों ने टायर जलाकर सड़क जाम कर दिया. इस दौरान ग्रामीणों ने सड़क जाम करने के लिए बैरिकेडिंग भी कर दी.

ग्रामीण अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे. स्थानीय लोग निचितपुर नर्सिंग होम आने वाले लोगों की जांच मोहल्ले की शुरुआत पर ही करने की मांग कर रहे थे.

उनका कहना था कि इस तरह बाहर के लोगों के अस्पताल में आने से मोहल्ले के लोगों के बीच संक्रमण फैल सकता है.

इसे भी पढ़ेंःसबसे ज्यादा कमाई करने वाले 100 खिलाड़ियों की सूची में कोहली इकलौते भारतीय, टेनिस प्लेयर फेडरर टॉप पर

बाहर से आनेवाले लोगों की जांच की मांग की

बताया जाता है कि इस दौरान ग्रामीणों ने एंबुलेंस चालक के साथ मारपीट भी की. हंगामा देख डॉ. उमाशंकर ने मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों से बातचीत करने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने. हंगामे की सूचना नर्सिंग होम के लोगों ने पास के थाने को दी. सूचना मिलते ही कतरास पुलिस मौके पर पहुंची और माहौल को सामान्य बनाने की कोशिश में जुट गयी.

वहीं हंगामा कर रहे ग्रामीणों का कहना है कि मार्ग के दोनों ओर बाहर से आने वाले मरीजों की मोहल्ले के नर्सिंग होम में प्रवेश करने से पहले थर्मल जांच तथा सैनिटाइजिंग होनी चाहिए. साथ ही हंगामा कर रहे ग्रामीणों ने संचालक पर भी अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया है.

इसे भी पढ़ेंः#TTPS की क्षमता है 420 MW, उत्पादन हो सकता 390 MW, फिर क्यों कराया जा रहा 250 MW, साजिश या कमिशनखोरी?

पूरे गांव को सैनिटाइज करने का डाल रहे थे दबाव- डॉक्टर

वहीं इस मामले में डॉ. उमाशंकर ने कहा कि 40 से 50 की संख्या में ग्रामीण सुबह नर्सिंग होम पहुंच गये और नर्सिंग होम बंद करने को कहने लगे. साथ ही पूरे गांव को सैनिटाइज कराने का दबाव डालने लगे.

उन्होंने कहा कुछ देर बाद ग्रामीण गेट के बाहर निकलकर सड़क पर आ गये और टायर जलाकर हंगामा करने लगे. हंगामा के दौरान एक एंबुलेंस आ रही थी, जिसे ग्रामीणों ने रोक दिया और ड्राइवर के साथ धक्का-मुक्की करने लगे. साथ ही नर्सिंग होम के कर्मचारियों के साथ भी गाली-गलौज की.
इसे भी पढ़ेंःरांची के कोचिंग संस्थानों की लूट कथा-6 : इंजीनियर-डॉक्टर बनाने का सपना दिखा छठी क्लास के स्टूडेंट्स का बर्बाद कर रहे करियर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: