DhanbadJharkhand

#Dhanbad : संयुक्त मोर्चा की हड़ताल का कोल इंडिया में दिखा मिला-जुला असर, बैंककर्मी भी उतरे सड़क पर, केंद्र सरकार के खिलाफ जम कर की नारेबाजी

Dhanbad : ट्रेड यूनियनों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल का कोल इंडिया में मिला-जुला असर देखने को मिला. सुबह से ही ट्रेड यूनियन के नेता हड़ताल को सफल बनाने में जुटे रहे.

Sanjeevani

हड़ताल के कारण कई कोलियरियों में उत्पादन व डिस्पैच का काम प्रभावित हुआ. ट्रेड यूनियन की हड़ताल के कारण झरिया के लोदना एरिया 9 में मजदूरों ने रैक लोडिंग के काम को पूरी तरह ठप कर दिया. रेल सेवा भी बाधित की गयी.

MDLM

इस संबंध में सीटू नेताओं ने बताया कि ठेका मजदूरों को सरकार की ओर से तय न्यूनतम मजदूरी का भुगतान नहीं किया जाता है. देश में महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है.

देखें वीडियो

उन्होंने कहा कि सरकार बढ़ती महंगाई पर रोक लगाये और ठेका मजदूरों को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान हो. नेताओं ने बताया कि ट्रेड यूनियन की हड़ताल के कारण कोलियरियों में ट्रांसपोर्टिंग का काम पूरी तरह ठप रहा.

इसे भी पढ़ें – दिल्ली में अमित शाह की रैली में CAA के विरोध में बैनर दिखानेवाली दो महिलाओं को घर से निकाला

एटीएम में खत्म हुआ कैश, परेशान रहे लोग

वहीं ट्रेड यूनियनों की हड़ताल का असर बैकिंग सेवा पर भी देखने को मिला. ट्रेड यूनियनों की हड़ताल के कारण कई बैंक बंद रहे. जिस कारण ग्राहकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा.

एसबीआइ छोड़ लगभग सभी बैंक हड़ताल में रहे. बैंकों के बंद रहने से एटीएम सेवा भी बुरी तरह प्रभावित रही. शहर के अधिकतर एटीएम में कैश नहीं थे. जिस कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा. एटीएम से कैश निकालने के लिए लोग इधर-उधर भटकते रहे.

इसे भी पढ़ें – #Palamu: एनआरसी-सीएए और एनपीआर के खिलाफ प्रदर्शन, ज्यां द्रेज ने कहा- इन कानूनों पर हेमंत सोरेन सरकार अपना स्टैंड क्लीयर करे  

मजदूर विरोधी हैं केंद्र सरकार की नीतियां

वहीं अपनी मांगों को लेकर अखिल भारतीय दवा कर्मचारी संघ के आह्वान पर झारखंड सेल्स रिप्रेजेंटेटिव यूनियन के 500 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने भी हड़ताल का समर्थन कर काम-काज ठप रखा. इस मौके पर संगठन के सचिव संदीप आईच ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियां मजदूर विरोधी है. यूनियन के संयुक्त महामंत्री असीम हलदर ने सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने नयी उदारवादी नीतियों को अपनाकर देश को आर्थिक गुलामी की तरफ धकेल दिया है. आज पूरा देश छंटनी, बेरोजगारी जैसी गंभीर समस्याओं से जूझ रहा है.

इसे भी पढ़ें –  ग्रामीण बंद और #Trade_Unions_Strike से राज्य को लगभग सौ करोड़ का नुकसान, बंद रहे कई कोल ब्लॉक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button