न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबादः विकास के दावों से इतर पीने के साफ पानी के लिए तरस रहे दो सौ परिवार

विकास से अछूती है गांधी नगर सब्जी बागान के पास की बस्ती

687

Dhanbad: सूबे की सरकार विकास के बड़े-बड़े दावे करती है. लेकिन इन दावों से विपरीत धनबाद में करीब दो सौ परिवार पीने के साफ व शुद्ध पानी के लिए तरस रहे हैं. धनबाद नगर निगम के वार्ड संख्या 30 की ये तस्वीर है. जहां दो सौ से ढाई सौ परिवार गंदे तालाब का पानी पीने को मजबूर हैं. लाचारी इस कदर की नहाने, कपड़ा धोने से लेकर पीने तक के लिए एक मात्र इस छोटे से गंदे तालाब पर निर्भर हैं .

वार्ड संख्या 30 में गांधी नगर सब्जी बागान से नीचे की ओर एक बस्ती है, जो सालों से सरकारी उपेक्षा का शिकार है. यहां नेता वोट मांगने तो आते हैं पर सरकारी सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं पहुंचता. यहां रहने वाले वीर बहादुर तमांग कहते हैं कि वो पिछले चालीस साल से यहां बसे हैं, लेकिन आज भी पीने का साफ पानी तक मयस्सर नहीं. सरकारी सुविधा के नाम पर सिर्फ एक शौचालय मिला है. न मकान, न सड़क, न पानी, न शिक्षा की कोई व्यवस्था न ही कोई स्वास्थ्य केंद्र.

एक तरफ जहां पानी के लिए सरकार की बड़ी बड़ी योजनाएं चलती हैं, वहीं यहां के करीब एक हजार लोगों के लिए एक छोटा सा तालाब हैं. जिसका पानी इतना गंदा है कि पीना तो दूर हमारे नेता छूना भी पसंद ना करें. इस तालाब के पास एक कुआं भी है, लेकिन पानी का स्तर ना के बराबर और स्थिति इतनी दयनीय है कि कब ये कुआं जमींदोज हो जाये कुछ कहा नहीं जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः गांव में एक भी ट्यूबवेल न रहे खराब, बंद और खराब जलापूर्ति योजनाओं को करें ठीक: सचिव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: