DhanbadJharkhand

धनबाद :  लोगों को अधिकार के प्रति जागरूक करने के लिए न्यायिक पदाधिकारियों ने की पदयात्रा

Dhanbad: लोगों को अपने अधिकार के प्रति जागरूक बनाने के लिए महात्मा गांधी की जयंती पर शुरू हुए अमृत महोत्सव कार्यक्रम का आज रविवार को समापन हुआ. डेढ़ महीने के बाद बाल दिवस के मौके पर इसका समापन हुआ. इस मौके पर जिले के तमाम न्यायिक पदाधिकारियों ने पदयात्रा की.

इसे भी पढ़ेंः उग्रवाद प्रभावित 5 जिलों में शुरू होगी SAHAY योजना, स्पोर्ट्स के माध्यम से यूथ डेवलपमेंट पर होगा जोर

advt

न्यायाधीश श्री शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश पर जिले में 2 अक्टूबर से लेकर 14 नवंबर तक आजादी का अमृत महोत्सव मनाया गया है. जिसकी शुरुआत पदयात्रा से हुई थी और समापन भी पदयात्रा से. उन्होंने लोगों से कहा कि वह अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहें तभी उन्हें विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ मिल पाएगा, जानकारी के अभाव में लोग सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं ले पाते.

इसे भी पढ़ेंः Gadchiroli Encounter में  मारे गए 26 नक्सलियों में 50 लाख का इनामी नक्सली मिलिंद तेलतुंबड़े भी शामिल

पदयात्रा सुबह 7:00 बजे सिविल कोर्ट कैंपस से शुरू होकर रणधीर वर्मा चौक होते हुए पुनः सिविल कोर्ट पहुंची. इस दौरान लोगों को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक बनाने के लिए धनबाद के तमाम न्यायिक पदाधिकारी, जिला प्रशासन के पदाधिकारी, सिविल कोर्ट कर्मचारी, जिला विधिक सेवा प्राधिकार के पैनल अधिवक्ता, पैरा लीगल वालंटियर और स्कूली बच्चे हाथ में बैनर पोस्टर लिए सड़क पर उतरे थे.

सामाजिक उत्थान के लिए 10 सूत्री योजना लागू

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव सह अवर न्यायाधीश निताशा बारला ने बताया कि इन डेढ़ माह माह में 1205 गांव में 3800 जागरूकता शिविर लगाए गए वहीं 5000 से अधिक लोगों को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ दिलवाया गया.

 

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार (नालसा) के द्वारा लोगों के सामाजिक उत्थान तथा उन्हें कानूनी रूप से सशक्त बनाने के लिए 10 सूत्री योजना लागू की गई है. जिसमें श्रमेव बंदते जिसके तहत प्रवासी मजदूरों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंः पीएम मोदी कल सुबह 9.30 बजे ऑनलाइन उद्घाटन करेंगे बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह संग्राहालय का

दूसरी योजना मानवता जिसके तहत वृद्धा पेंशन विधवाओं और बच्चों के लिए विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उन्हें दिलाया जा रहा है. कर्त्तव्य योजना के तहत जेल में बंद बंदियों के परिवार को सरकारी लाभ, आत्मनिर्भर योजना के तहत जरूरतमंद लोगों तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने का काम किया गया,  शक्ति योजना के तहत गरीब तबके के महिलाओं तक सामाजिक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाया गया. निरोगी भव: योजना के तहत लोगों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं प्रदान की गई. चेतना योजना के तहत नशा के शिकार लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया गया । तृप्ति योजना के तहत गरीबों के खाद्य सुरक्षा संबंधी योजनाओं को दिलाया गया. झालसा योजना के तहत सामाजिक न्याय से संबंधित सभी योजनाओं का लाभ उन्हें दिलाया गया. शिशु प्रोजेक्ट के तहत अपने माता पिता को खोने वाले 66 बच्चों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया गया.

इसे भी पढ़ेंः BIG NEWS : गया में नक्सलियों का तांडव, एक ही परिवार के 4 लोगों को फांसी पर लटकाया, घर बम से उड़ाया

इस मौके पर प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश राम शर्मा, कुटुंब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश टी हसन,  जिला एवं सत्र न्यायाधीश रमेश कुमार श्रीवास्तव, राजीव आनंद, स्वयंभू, प्रेमलता त्रिपाठी, रजनीकांत पाठक, सुजीत कुमार सिंह, तौफीक अहमद, एसएन मिश्रा, प्रभाकर सिंह, राजकुमार मिश्रा, अखिलेश कुमार, नीरज कुमार विश्वकर्मा, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी संजय कुमार, अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी कुलदीप, अवर न्यायाधीश राजीव त्रिपाठी सिविल जज श्वेता कुमारी, शिवम चौरसिया, सफदर नायर, निर्भय प्रकाश, विशाल माजी, प्रतिमा उरांंव, पूनम कुमारी, रजिस्ट्रार एसएस तिर्की, सिटी एसपी आर राम कुमार, एसडीएम प्रेम कुमार, धनबाद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार सहाय, समेत डालसा के पैनल अधिवक्ता अजय कुमार भट्ट, श्रीनिवास प्रसाद पंचानन सिंह, संजीव सिंह, सुधीर सिन्हा, अखिलेश मिश्रा, पारा लीगल वॉलिंटियर राजेश कुमार सिंह डिप्टी कुमारी गुप्ता, हेमराज चौहान, बसंत द्विवेदी, किशोर रविदास, पंकज वर्मा, अरविंद प्रसाद अनामिका सिंह, गीता कुमारी, उमा शंकर नाग, प्रदीप रवानी, ओम प्रकाश दास, चंदन कुमार, सिविल कोर्ट कर्मचारी मनोज कुमार ,सौरव सरकार, अरुण कुमार, द्वारिका दास, संतोष कुमार, अनुराग पांडे, सिविल कोर्ट कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष बी एन के सिंह, विजय तिवारी, रजनीश श्रीवास्तव, शमशेर आलम महबूब आलम, विनय राणा, सुदीप कुमार, नाजिर आर एस पांडे,  रणधीर कुमार समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः दीपावली के धुएं से दिल्ली में लॉकडाउन जैसी स्थिति, फिर से वर्क फ्राम होम व स्कूल बंद

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: