न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद : जनता ने पानी के लिए नगर निगम, एसडीओ ऑफिस मैथन को घेरा, जल दो या जेल दो…का नारा लगाया  

एक तरफ रिकॉर्ड गर्मी, दूसरी तरफ भीषण जल संकट ने धनबाद वासियों का जीना मुहाल कर दिया है.  जलापूर्ति की तमाम व्यवस्थाएं ध्वस्त हो चुकी हैं. वहीं सांसद, विधायक और मेयर मौन हैं.

139

Dhanbad :  एक तरफ रिकॉर्ड गर्मी, दूसरी तरफ भीषण जल संकट ने धनबाद वासियों का जीना मुहाल कर दिया है.  जलापूर्ति की तमाम व्यवस्थाएं ध्वस्त हो चुकी हैं. वहीं सांसद, विधायक और मेयर मौन हैं.  ऐसे में आम लोगों का धैर्य जवाब दे रहा है. आम जन पानी देने में विफल प्रशासन से जेल भेजने की मांग कर रहे हैं.  सोमवार को जल संकट से परेशान सैकड़ों की संख्या में धनसार की महिलाओं एवं पुरुषों ने नियमित जलापूर्ति की मांग के लिए जोरदार प्रदर्शन किया.

बड़ी संख्या में महिलाएं धनबाद नगर निगम कार्यालय पहुंचीं और धनबाद नगर निगम का घेराव किया.  जल दो या जेल दो… नगर आयुक्त वापस जाओ… पेयजल विभाग हाय हाय… के नारों के साथ पानी नहीं मिलने को लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त की. नेतृत्व वार्ड नंबर 33 के पार्षद प्रतिनिधि गुड्डू सिंह कर रहे थे.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें – मानदेय नहीं मिलने से परेशान पारा शिक्षक ने की आत्मदाह की कोशिश, डीसी ऑफिस के सामने हंगामा 

धनसार में सांसद पीएन सिंह का घर,  समस्या दूर नहीं कर पाये

नगर निगम कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन करने करीब साढे़ ग्यारह बजे महिला-पुरुष पहुंचे.  हाथों में तख्ती थामे महिलाओं ने-हमारी प्यास बुझाओ… नारे के साथ प्रदर्शन शुरू किया.  सभी निगम के गेट के समक्ष जमीन पर बैठ गये और प्रदर्शन करने लगे.  लोगों ने धनसार एरिया के अनुग्रह नगर, प्रेम नगर, नयी दिल्ली लाइन किनारे सहित शास्त्री नगर में भीषण जल संकट को लेकर नगर निगम और प्रशासन को आड़े हाथ लिया.

गुड्डू सिंह समेत प्रदर्शन कर रही महिलाओं का कहना था कि शहर के धनसार में धनबाद के सांसद पीएन सिंह का घर है.  यह विडंबना ही है कि तीन बार के विधायक और तीन बार से सांसद पीएन सिंह अपने मोहल्ले में ही पानी की समस्या का समाधान नहीं कर पाये हैं.  प्रदर्शन में शामिल शगुन वर्मा, निर्मला देवी, चंदा देवी व बालिका देवी ने बताया कि घनसार में भीषण जल संकट है . दो-तीन दिन में एक बार पानी मिलता है .  कभी कभी चार-चार दिन पानी नहीं मिलता है.

पानी चलाने का समय भी निश्चित नहीं है.  10-15 मिनट ही बमुश्किल पानी मिल पाता है.  पिछले कई महीनों से यह संकट बना हुआ है , लेकिन प्रशासन और नगर निगम का इस ओर ध्यान नहीं जा रहा है.  यदि पानी की समस्या शीघ्र दूर नहीं की गयी तो अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ जायेंगे

इसे भी पढ़ें – दुमकाः 1955 में बने कुएं से प्यास बुझा रहे ग्रामीण, डीप बोरिंग नहीं हुई चालू

 एसडीओ ऑफिस मैथन का घेराव

इस क्रा में दो महीने से पानी की समस्या से जूझ रहे गोपीनाथपुर पंचायत के भालू सुंधा के ग्रामीणों ने सोमवार को एसडीओ ऑफिस मैथन का घेराव किया.  एसडीओ ऑफिस खाली था, बड़ा बाबू एवं चपरासी के अलावा कोई भी पदाधिकारी उपस्थित  नहीं था.  मौके पर ग्रामीणों के साथ मौजूद भाजपा के नेता प्रशांत बनर्जी ने कहा कि अफसरों के लापरवाही रवैये के कारण दो महीने से भालू सुंधा के ग्रामीण एक एक बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं.

तंग आकर ग्रामीणों ने आज एसडीओ ऑफिस में आकर घेराबंदी करने का फैसला लिया. लेकिन पदाधिकारी नदारद हैं. ग्रामीणों के साथ घेराबंदी करने पहुंचे लोगों में भाजपा के मंडल अध्यक्ष रंजीत मोदी, मंडल महामंत्री अमर साव, दीपा दास, मीनाक्षी राय, श्रीराम बारी, हरि कुमार, सुदामा यादव, राम प्रसाद राम, शैलेंद्र महतो, विश्वनाथ महतो, यादव फूलन देवी, रतनी देवी, सुम्मरी देवी, राम कुमारी देवी, मंजू देवी, सरस्वती देवी, सुनीता देवी, रेखा देवी, मीरा देवी, गुजरी देवी, गोपुली देवी, सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण शामिल थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like