NationalNEWS

धनबादः शिकायत लेकर थाना पहुंचे युवकों के साथ थाना प्रभारी ने की मारपीट, हंगामा

Dhabad : पाथरडीह थाना क्षेत्र के साउथ कॉलोनी में गुरुवार की देर शाम दो पक्षों में गाली गलौज के बाद मामला थाना पहुंचा. एक पक्ष की शिकायत मिलने के बाद शिकायत करने पहुंचे दूसरे पक्ष के युवकों के साथ मारपीट का आरोप थाना प्रभारी अभय कुमार पर लग रहा है. बताया गया है कि थाना प्रभारी ने शिकायत करने पहुंचे युवको के साथ गाली गलौज करते हुए उनसे मारपीट की. जिसके बाद मामला भड़क गया.  सूचना पाकर युवकों के परिजन एवं स्थानीय लोग थाना परिसर पहुंचकर कर हंगामा करने लगे.

इसे भी पढ़ेंः सर्वोच्च न्यायालय का बड़ा फैसला, फरार या भगोड़ा घोषित अपराधी अग्रिम जमानत का हकदार नहीं

advt

शिकायत देने पहुंचे युवकों पर बिना जांच डंडे से पिटाई करने का आरोप लगाया. जिसके बाद घंटों हंगामा होता देख सुदामडीह से पुलिस सदल बल के साथ थाने पहुंची. वहीं महिला पुलिस बल को भी बुला लिया गया था. किसी प्रकार स्थानीय लोगों के समझाने बुझाने के बाद मामला शांत हुआ.

घटना के संबंध में चासनल्ला साउथ कॉलोनी बबीता देवी ने बताया कि उनके पड़ोसी सुमन सिंह उनके पिता व भाई आकर घर पर गाली गलौज करने लगे समझाने के बाद भी नहीं मान रहे थे,और परिवार के लोगों से उलझ रहे थे. जिसके बाद थाने में इसकी लिखित शिकायत देने के लिए मेरा पुत्र मंटू सिंह संतु सिंह राजेश कुमार अकाश कुमार थाना गए थे. शिकायत पर कार्रवाई करने के बजाय थाना प्रभारी अभय कुमार ने गर्दन पकड़कर लाठी से पिटाई की. जबकि कानून इसकी इजाजत नहीं देती कहा कि मेरे पुत्र का क्या दोष था क्या शिकायत लेकर भी थाना आना गुनाह है. प्रशासन इसका जवाब दे वही युवकों ने भी पिटाई के विरोध में पुलिस प्रशासन हाय-हाय पाथरडीह पुलिस हाय हाय, मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

 

इधर, दूसरे पक्ष की महिला सुमन सिंह का कहना है कि पिछले कुछ महीनों से अपना मकान का निर्माण कार्य कर रही है. पड़ोस के अखिलेश ओझा द्वारा आए दिन विवाद खड़ा कर दिया जाता है. गंदी गंदी गालियां दी जाती हैं. जिसमें कुछ लोगों ने भी उनका साथ दिया आज भी हमारे घर के एस्बेट्स सीट को तोड़ दिया गया था. जिसकी शिकायत मैंने थाना में की है, काफी जद्दोजहद के बाद मामला शांत हुआ. इस पूरे मामले पर प्रतिक्रिया देने से थाना प्रभारी अभय कुमार इन्कार किया है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: