न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

Dhanbad : बाजार और शेड निर्माण के लिए सर्वे किया सरकारी जमीन का, लेकिन शिलान्यास कर दिया SAIL की भू धंसान प्रभावित जमीन पर

1,603

Dhanbad : नगर निगम के सिंदरी अंचल द्वारा वार्ड संख्या 53 स्थित सिंदरी- झरिया मुख्य मार्ग के किनारे कांड्रा में नगर निगम के द्वारा 1 करोड़ 98 लाख की लागत से आधुनिक बाजार और शेड का निर्माण किया जाना है. जिसके लिए वार्ड 53 की पार्षद द्वारा शिलान्यास भी किया गया पर शिलान्यास के बाद से ही इस योजना पर लोग सवाल उठाने लगे हैं.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

स्थानीय दुकानदारों और ग्रामीणों ने जिस जगह शिलान्यास किया गया है, उसका लगातार विरोध किया जा रहा है. ग्रामीणों का कहना है कि पिछले कई वर्षों से कांड्रा दुर्गा मंदिर परिसर में बाजार लग रहा है.

इसलिए आधुनिक हाट बाजार और शेड का निर्माण दुर्गा मंदिर परिसर के क्षेत्र में होना चाहिए. इसी जगह पर निर्माण के लिए सर्वे किया गया था. यह सरकारी जमीन भी है. लेकिन योजना का शिलान्यास सेल के भू धंसान वाले क्षेत्र में कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः #Hazaribagh: जिस बड़कागांव BDO और उनकी पत्नी ने नाबालिग से की थी मारपीट, अब उनसे RTI एक्टिविस्ट को है जान का खतरा!

जहां किया गया है शिलान्यास, वहां थी भूमिगत खदान

ग्रामीणों के अनुसार धनबाद नगर निगम द्वारा वार्ड संख्या 53 के कांड्रा दुर्गा मंदिर के समीप चकचिटाही मौजा संख्या 170, खाता संख्या-11, प्लॉट संख्या -143 पर आधुनिक बाजार और शेड निर्माण का सर्वे किया गया था.

पर जब योजना की स्वीकृति मिली तो इसका शिलान्यास सेल के भू धंसान वाले क्षेत्र चकचिटाही मौजा संख्या–170, खाता संख्या -09, प्लॉट  संख्या 173 पर बनाने शिलान्यास किया गया है. ग्रामीणों का आरोप है कि जिस जगह पर शिलान्यास किया गया है, वह सेल की जमीन है.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

और वर्षों पहले इस जमीन पर भूमिगत खदान चलती थी. इस क्षेत्र में लगातार भू धसान होते रहती है. इसकी जानकारी होने के बावजूद स्थानीय पार्षद और सवेदक की मिलीभगत से ऐसा किया जा रहा है. लोगों ने मामले की शिकायत उपायुक्त, मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल और नगर आयुक्त को आवेदन देकर की है.

इसे भी पढ़ेंः #Gumla: लेवी नहीं देने के कारण ठेकेदार संजय सिंह की हत्या की गयी थी, पीएलएफआइ ने ली जिम्मेवारी

पार्षद पर संवेदक को लाभ पहुंचाने का आरोप

स्थानीय ग्रामीण प्रकाश महतो ने बताया कि पहले जिस जगह पर सर्वे किया गया था वहां इस योजना के संवेदक की दो दुकानें अवैध तरीके से बनायी गयी है. अगर उस जगह पर आधुनिक बाजार और शेड का निर्माण किया जायेगा तो संवेदक की दुकान टूटने की संभावना थी इसलिए योजना स्थल को बदल दिया गया.

सेल ने अब तक नहीं दी एनओसी

सेल के अधिकारी पंकज मंडल ने न्यूजविंग को बताया की विभाग को ग्रामीणों द्वारा लिखित शिकायत दी गयी है. जिस जमीन पर शिलन्यास किया गया है, वह तीसरा परियोजना के लिए चिह्नित है और सेल कोलियरी डिवीजन द्वारा किसी भी तरह की एनओसी धनबाद नगर निगम को नहीं दी गयी है.  इस मामले में विभाग भी जल्द अपनी आपत्ति धनबाद नगर निगम को भेजेगा.

इसे भी पढ़ेंः यूपी, हरियाणा, दिल्ली में प्रदूषण के स्थानीय स्रोतों से ज्यादा एयर पॉल्यूशन- #EPCA

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like