DhanbadJharkhand

#Dhanbad: SOG टीम ने अवैध कोयला लोड करते एक पिकअप वैन को किया जब्त, कोयला तस्कर फरार

Dhanbad : एसओजी की टीम ने रविवार को सोनारडीह थाना के तेतुलिया मारवाड़ी पट्टी में छापामारी कर एक अवैध कोयला डिपो का उद्भेदन किया है.

हालांकि एसओजी की टीम को देखते हुए कोयला तस्कर भाग खड़े हुए. अभी कुछ दिन पहले ही बाघमारा के तेतुलमारी थाना क्षेत्र में अवैध कोयला डिपो का उद्भेदन किया गया था.

यहां के लोगों का कहना है कि बाघमारा क्षेत्र अवैध कोयला कारोबारियों के लिए चारागाह बना हुआ है.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi: 649 हाइ रिजॉल्यूशन कैमरे लगने के बाद भी अपराधी हो रहे फरार, पुलिस को नहीं मिलता फुटेज

स्थानीय लोगों ने कहा– पुलिस की मिलीभगत से हो रहा है कोयले का अवैध कारोबार

स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस की मिलीभगत से यहां पर अवैध कोयला का धंधा फल-फूल रहा है. उन्होंने कहा कि धनबाद में एसओजी की टीम को यह जानकारी मिल जाती है कि फलां जगह अवैध कोयले का कारोबार हो रहा है लेकिन स्थानीय पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती.

उन्होंने कहा कि इससे साफ जाहिर होता है कि पुलिस की मिलीभगत से ही क्षेत्र में अवैध कोयला का कारोबार चल रहा है.

स्थानीय लोगों ने बताया कि आउटसोर्सिंग और बंद खदानों से बड़े पैमाने पर कोयला की चोरी कर इस क्षेत्र में संचालित अवैध भट्ठों में खपाया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि इस तरह का कोयला फर्जी कागजात के सहारे बाहर भी भेजा जा रहा है. उन्होंने बताया कि पुलिस को इस बात की जानकारी रहती है इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जाती है.

इसे भी पढ़ें : शर्मनाकः पुलवामा के शहीद विजय सोरेंग की पत्नी को बेचनी पड़ रहीं सब्जियां, रघुवर दास ने दिया था मदद का आश्वासन, पर कुछ दिया नहीं, अब हेमंत ने लिया संज्ञान

एसएसपी के आदेश का भी नहीं दिख रहा है असर

एसएसपी ने हाल ही में कोयला तस्करी पर रोक लगाने का आदेश दिया था. एसएसपी के आदेश के बावजूद जिले में बड़े पैमाने पर कोयला की तस्करी हो रही है.

शनिवार को खरखरी में 130 बोरा कोयला पकड़ा गया था. इसके साथ ही एक मोटरसाइकिल भी जब्त की गयी थी. वहीं शनिवार को ही निरसा में भी कई जगहों पर छापामारी कर 16 टन कोयला जब्त किया गया था.

निरसा में पुलिस और सीआईएसएफ की टीम ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया था.

इसे भी पढ़ें : #Giridih: पांच दिनों में दो गांवों के दर्जन भर लोगों की मौत, अज्ञात बीमारी का शक, प्रशासन ने शराब को बताया वजह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button