न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद : सिंह मेंशन का शंखनाद- चुनावी समर में कूदा ‘कुंती पुत्र’

105
  • सिद्धार्थ गौतम उर्फ मनीष सिंह ने निकाली जन चेतना रैली

Dhanbad : लगभग डेढ़ दशक के बाद धनबाद का चर्चित घराना ‘सिंह मेंशन’ के एक नौजवान ने कोयलांचल में फिर एक बार हुंकार भरी है. स्व. सूर्यदेव सिंह के छोटे पुत्र सिद्धार्थ गौतम उर्फ मनीष सिंह ने रविवार को कहा, “धर्मयुद्ध का शंखनाद हो चुका है और इस धर्मयुद्ध में कुंती पुत्र कूद चुका है.” बता दें कि वर्ष 2003 में स्व. सूर्यदेव सिंह के बड़े पुत्र और मनीष सिंह के अग्रज राजीव रंजन सिंह ने भी कोयलांचल में चेतावनी रैली निकाली थी. अब डेढ़ दशक के बाद मनीष सिंह की जन चेतना रैली ने कोयलांचलवासियों को चेतावनी रैली की याद ताजा करा दी. धनबाद के मार्गों पर मानो हुजूम उमड़ पड़ा था. सिंह मेंशन के समर्थन में जोरदार नारे लग रहे थे. आलम यह था कि कोयला नगर के नेहरू कॉम्प्लेक्स मैदान में कार्यक्रम समाप्ति की ओर था, तो भी मेंशन समर्थकों का रुख मैदान की ओर जारी था. इधर, सिंह मेंशन भी अपने ऊपर हो रहे राजनीतिक हमलों का जवाब देने के लिए जन चेतना रैली के बहाने शक्ति प्रदर्शन कर रहा था.

सिंह मेंशन को मिटाने की राजनीति करनेवाले अब संभल जायें : मनीष सिंह

सभा स्थल पर मंच से मनीष सिंह ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि सिंह मेंशन को मिटाने की राजनीति करनेवाले अब संभल जायें, वर्ना वे खुद मिट जायेंगे. उन्होंने कहा कि सिंह मेंशन कदम आगे बढ़ाने के बाद पीछे की ओर नहीं खींचता. आगामी लोकसभा चुनाव में सिंह मेंशन धनबाद से अपना प्रतयाशी देने का निर्णय ले चुका है. अपने समर्थकों से मनीष सिंह ने चुनाव की तैयारी में जुट जाने की बात कही.

पुलवामा में शीहद हुए जवानों को दी श्रद्धांजलि

पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए सभा में उपस्थित लोगों ने सबसे पहले एक मिनट का मौन रखा. मनीष सिंह ने भी इस रैली के दौरान फूल-माला पहनने से इनकार कर दिया. सभा को संबोधित करते हुए मनीष सिंह ने कहा, “सिंह मेंशन का दूसरा नाम सेवा है. मेरे पिता सूर्यदेव सिंह पूरी जिंदगी कोयलांचलवासियों की सेवा करते रहे. हम उसी कड़ी को आगे बढ़ाना चाहते हैं.” उन्होंने कहा कि धनबाद को सही लीडर की जरूरत है, तभी यहां का विकास संभव है. धनबाद सही मायने में अब तक अपने वाजिब हक से महरूम है. इसके लिए कमजोर नेतृत्व ही जिम्मेदार है.

इसे भी पढ़ें- जनांदोलन के संयुक्त मोर्चा ने उठायी आवाज- विपक्षी गठबंधन में जनांदोलनों की हिस्सेदारी से ही हटाया जा…

इसे भी पढ़ें- राहुल गांधी की रैली को ऐतिहासिक बनाने में जुटे कांग्रेसी, मोरहाबादी में हो रहा भव्य मंच का निर्माण,…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: