न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद:  SDM राज महेश्वरम ने वकीलों के टेबल पर चलायी लात, भड़के वकील, चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

489

Dhanbad: अनुमंडल कार्यालय में बुधवार को गहमा-गहमी से माहौल तनावपूर्ण हो गया. दरअसल 15 अगस्त की तैयारियों को लेकर परिसर का निरीक्षण कर रहे अनुमंडल पदाधिकारी राज महेश्वरम ने वकीलों की टेबल-कुर्सी पर लात चलायी. गाली-गलौज की. यह देख जब अधिवक्ता दौड़े तो एसडीएम वाहन पर सवार होकर तेजी से निकल पड़े. इस मामले को लेकर अधिवक्ता आक्रोशित हैं. सूचना मिलने के बाद धनबाद के विधायक राज सिन्हा भी पहुंचे. उन्होंने अधिवक्ताओं से पूरे मामले की जानकारी प्राप्त की.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें – मीठी क्रांति में खटास: CM की घोषणा 10 हजार किसानों को बांटेंगे मधु बॉक्स, हकीकत में मात्र 118 को ही मिलेगा

अधिवक्ताओं का आरोप है कि की एसडीओ ने कोर्ट कैंपस में खाली पड़ी टेबल और कुर्सी को लात मार कर उलट दिया. अधिवक्ताओं को गंदी-गंदी गाली दी. यह सब जब हो रहा था उस समय ज्यादातर अधिवक्ता अपने-अपने कोर्ट में थे. जैसे ही उन्हें जानकारी मिली वह दौड़े. अधिवक्ताओं ने एसडीएम का विरोध किया तो वह वाहन पर सवार होकर निकल पड़े.

एसडीएम की कार्यप्रणाली से आहत बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राधेश्याम गोस्वामी और महासचिव देवी शरण सिन्हा के नेतृत्व में बार कार्यकारिणी के तमाम सदस्य और बड़ी संख्या में अधिवक्ता एसडीएम के कार्यालय पहुंचे. एसडीएम कार्यालय में नहीं थे. इसके बाद धनबाद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राधेश्याम गोस्वामी के नेतृत्व में अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधिमंडल उपायुक्त अमित कुमार से मिला. एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गयी. उपायुक्त ने पूरे मामले की जांच करा कार्रवाई का आश्वासन दिया है. कहा कि उन्होंने मामले को संज्ञान में लिया है और जांच के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे.

इसे भी पढ़ें – जियो फाइबर के लिए बहुत चालाकी के साथ रास्ता साफ किया गया

WH MART 1

चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

बार के अध्यक्ष राधेश्याम गोस्वामी ने कहा कि एसडीएम का कृत्य काफी निंदनीय है. एसडीएम जिला प्रशासन के एक वरीय पदाधिकारी हैं. उनके द्वारा अधिवक्ताओं को गाली गलौज करना अशोभनीय है. बार एसोसिएसन घटना की घोर निंदा करता है. अगर एसडीएम अभिलंब अधिवक्ताओं से आकर सार्वजनिक तौर पर माफी नहीं मांगते हैं तो चरणबद्ध आंदोलन तरीके से आंदोलन शुरू किया जायेगा. अधिवक्ताओं ने प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश बसंत कुमार गोस्वामी से मिल कर भी मामले की शिकायत की. प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोस्वामी ने भी आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया.

दुर्व्यवहार की बात पूरी तरह गलत:  राज महेश्वरम, एसडीएम

15 अगस्त की तैयारियों के सिलसिले में ध्वजारोहण स्थल का निरीक्षण करने गये थे. साफ-सफाई के लिए अधिवक्ताओं से सहयोग मांगा. परिसर को खाली करने को कहा. इससे अधिवक्ता बुरा मान गये. दुर्व्यवहार की बात पूरी तरह गलत है. प्रत्येक वर्ष की तरह अधिवक्ताओं से सहयोग की अपेक्षा करते हैं. बताते चलें कि पिछले सौ वर्षों से एसडीओ कोर्ट कैंपस में धनबाद के अधिवक्ता बैठ कर वकालत करते हैं. हर वर्ष 15 अगस्त और 26 जनवरी को ध्वजारोहण के लिए अधिवक्ता एक दिन पहले दिन में बारह बजे तक अपनी टेलब-कुर्सी हटा लेते हैं. अधिवक्ता जिला प्रशासन का सहयोग करते हैं. इस बात को लेकर अधिवक्ताओं और जिला प्रशासन के बीच कभी विवाद नहीं हुआ. बुधवार 14 अगस्त को करीब 11 बजे धनबाद के एसडीएम राज महेश्वरम पहुंचे तो कुर्सी टेबल बिखरा देखा और बिफर पड़े.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में छोटे-बड़े आपराधिक गैंग वसूल रहे हैं रंगदारी, रांची सहित राज्य के अन्य जिलों से भी हर महीने उठा रहे मोटी रकम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like