न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुख्यमंत्री जन संवाद से जुड़ी शिकायतों के निष्पादन मामले में धनबाद छठे पायदान पर

बूथों की संवेदनशीलता सहित कई रणनीतियों को लेकर उपायुक्त ने की बैठक 

1,448

Dhanbad:  प्रत्येक मंगलवार को आयोजित होने वाले मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम की साप्ताहिक समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में  रमाकांत सिंह, अपर सचिव, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, झारखंड द्वारा सभी जिलों के मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रमो से सम्बंधी कार्यो की जिलावार समीक्षा की गयी. आज की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कुल 19 चयनित मामलो की समीक्षा विभिन्न जिलों के नोडल पदाधिकारियों की ओर से की गयी. बता दें कि धनबाद जिला मुख्यमंत्री जनसंवाद के माध्यम से जनशिकायतों के निपटारे में वर्तमान में  झारखंड में छठे स्थान पर है. इसे प्राथमिकता में रखते हुए प्रत्येक शनिवार को जिला स्तर पर भी विभागवार शिकायतो के निष्पादन से संबंधित समीक्षा की जाती है. जिले में आज तक कुल 20,730 मामले प्राप्त हुए हैं. जिसमे कुल 15,250 शिकायतों का निपटारा किया जा चुका है तथा शेष मामलो के निष्पादन की प्रक्रिया चल रही है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जिला जन-सम्पर्क पदाधिकारी ईशा खंडेलवाल, जिला समन्वयक, मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र, पुलिस विभाग, नगर निगम, कृषि विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, झमाडा तथा जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के नोडल पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः सीएस और डीजीपी को चुनाव कार्य से अलग रखे निर्वाचन आयोग : झाविमो

डीसी ने चुनाव को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की

समाहरणालय के सभाकक्ष में धनबाद विधानसभा क्षेत्र के निरसा तथा गिरिडीह विधानसभा क्षेत्र के बाघमारा तथा टुंडी को लेकर बैठक आयोजित की गयी. बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त ने की. बैठक में बूथ संवेदनशीलता, रूट चार्ट, ट्रांसपोर्टेशन प्लान, कम्युनिकेशन प्लान इत्यादि पर चर्चा की गयी. बैठक में उपायुक्त ने कहा कि संवेदनशील बूथों पर सेक्टर ऑफीसर की नियुक्ति सुनिश्चित की जाए. साथ ही संवेदनशील बूथों के क्लस्टर की समीक्षा की जाए. ट्रांसपोर्टेशन प्लान पर उन्होंने छोटे-बड़े वाहनों की आवश्यकता सूची तैयार करने का निर्देश दिया. चुनाव को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए कम्युनिकेशन प्लान तैयार करने का भी निर्देश दिया. उन्होंने पैरामिलिट्री फोर्स, झारखंड पुलिस बल की आवश्यकता की समीक्षा की. उपायुक्त ने कहा कि बैठक में जिन बिंदु पर समीक्षा की गयी है उसकी अंतिम रुप से सूची तैयार की जाए.

इसे भी पढ़ेंः राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने मसूद अज़हर को दी थी क्लीनचिट: कांग्रेस

समन्वय स्थापित कर कार्यों के निष्पादन पर जोर दिया

उन्होंने संबंधित प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी तथा एसडीपीओ को समन्वय स्थापित करके कार्य को निष्पादित करने का निर्देश दिया. बैठक में  पुलिस अधीक्षक  किशोर कौशल, ग्रामीण एसपी अमन कुमार, अपर जिला दंडाधिकारी (विधि व्यवस्था)  राकेश कुमार दुबे, अनुमंडल पदाधिकारी  राज महेश्वरम, जिला परिवहन पदाधिकारी  ओम प्रकाश यादव, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, संबंधित क्षेत्र के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, एसडीपीओ एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः पुष्पगीत…याद आता रहेगा…अपनी उसी ताकत, मुस्कान और शरारतों के साथ

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: