DhanbadJharkhand

धनबाद : सड़क पर मवेशियों के कारण बढ़ रहे हैं हादसे, जिम्मेवार कौन?

advt

Dhanbad : धनबाद की विभिन्न मुख्य सड़कों पर आये दिन मवेशियों के कारण बड़े बड़े हादसे होते रहते हैं. लेकिन इन हादसों पर ना तो जिला प्रशासन की नजर पड़ रही है ,ना ही नगर निगम की. और ना ही उन लोगो की जो इनके नाम पर राजनीति करते  हैं.  भारी संख्या में मवेसी धनबाद बरवड्डा मुख्य सड़क पर खड़े रहते हैं . इन मवेशियों के कारण आने जाने वाले वाहनों को  कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है.

पिछने साल नवम्बर में सुदामडीह थाना अंतर्गत मवेशी के कारण रात के वक्त एक ट्रक ओर शूमो में जोरदार भिड़ंत हो गयी थी ,जिसमे शूमो पर सवार 7 लोगों मे 3  की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी थी और कई लोग घायल हो गये थे.  आनन फानन में उन्हें  र इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया था. इस हादसे में मवेशी की भी मौत हो गयी थी. घटना के बाद सुबह होते ही स्थानीय लोग और मवेशी मालिक झरिया सिंदरी मुख्य मार्ग जाम कर मुआबजे की मांग करने लगे थे.

advt

प्रशासन के लाख समझाने के बावजूद लोग सड़क जाम नहीं हटा रहे थे, जिसके कारण कई घंटे सड़क जाम रही थी. आखिर कार जिला प्रशासन को बल प्रयोग कर जाम  हटाना पड़ा था.  ताजा मामला 7 जुलाई 2019 का है , सिंदरी बलियापुर मुख्य मार्ग पर रात में  अज्ञात वाहन की चपेट में आने से 5 मवेशियों की मौत हो गयी थी .

सुबह होते ही स्थानीय लोगों और मवेशी मालिक ने सिंदरी बलियापुर मुख्य मार्ग को जाम कर दिया और मुआवजे की मांग करने लगे,  घंटो सड़क जाम के बाद  पुलिस ने अपना बल प्रयोग कर जाम को हटाया.

advt

इसे भी पढ़ें – क्या रघुवर दास अब भी कहेंगे 14 सालों में कुछ नहीं हुआ

 मवेशियों को सड़क पर छोड़ने वाले मालिकों पर कानूनी कारर्वाई हो

नेशनल हाइवे पर प्रतिदिन तेज रफ्तार वाहनों की चपेट में आने से कई मवेशियों की जान चली जाती है या फिर कई वाहन मवेशियों के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो जाते है. जिसमे वाहन चालक बुरी तरह घायल हो जाता है या फिर उनकी मौत हो जाती है . खास बात यह है कि मवेशियों के कारण आज तक सड़क हादसे में जितनी भी जाने गयी हैं  या जो लोग घायल हुए  हैं , उनका जिला प्रशासन के पास कोई लेखा जोखा नहीं हैं .

इस संबंध में लोगों का कहना है कि अगर वक्त रहते जिला प्रसासन सड़क पर घूम रहे मवेशियों को पकड़ कर गोशाला में छोड़ दे ,या फिर मवेशियों को सड़क पर छोड़ने वाले मालिक पर कानूनी कारर्वाई करे, तो शायद इन मवेशियों के कारण हो रही दुर्घटनाओं पर अंकुश लग सकता है

इस संबंध में बरवड्डा थाना प्रभारी जेके जयसवाल कहते हैं कि  प्रतिदिन सड़क पर घूम रहे आवारा मवेशियों को थाना के जवान सड़क से किनारे हटाते रहते है ,लेकिन इससे कोई फायदा नही होता हैं, वे फिर सड़क पर पहुंच जाते हैं. हादसे हो ही जाते हैं. इसे रोकने के लिए निगम को कड़े कदम उठाने चाहिए.

इसे भी पढ़ें – मूर्खतापूर्ण नीतियों से गड्ढे में जा रहा मेक-इन-इंडिया अभियान

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: