DhanbadJharkhand

धनबाद : ओपेन कास्ट से चलने के लिए गांव में सड़क भी नहीं, मेहमान भी आने से करते हैं परहेज

Ranjit kumar

Dhanbad/Jharia : झरिया के भौंरा जहाजटांड़ जाने वाली सड़क बीसीसीएल की आउटसोर्सिंग की चपेट में आ गयी है. अब इस गांव तक आने-जाने के लिए कोई सड़क नहीं बची है. मुख्य सड़क से लगभग डेढ़ से दो किमी की दूरी पर स्थित है जहाजटांड़ गांव.

बीसीसीएल की आउटसोर्सिंग के कारण यह गांव अब टापू बनकर रह गया है. गांव से मुख्य सड़क तक लोग जान जोखिम में डालकर जाते हैं. गांव में सड़क नहीं रहने के कारण इस गांव के लड़के–लड़कियों की शादी भी काफी मुश्किल से होती है.

advt

इसे भी पढ़ें –मंदी की मारः ऑटो सेक्टर में तेज गिरावट का सिलसिला जारी, मारुति की बिक्री 33 प्रतिशत घटी

बच्चों की पढ़ाई हो रही है बाधित

इस बारे में जहाजटांड़ के लोग बताते हैं कि जब मेहमान को पता चलता है कि इस गांव जाने के लिए कोई सड़क नहीं है तो वे रास्ते से ही लौट जाते हैं. सड़क नहीं रहने के कारण एक तो बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है.

वहीं स्थिति तब अधिक विकट हो जाती है, जब गांव में कोई गंभीर रूप से बीमार पड़ जाता है. उन्हें घर से अस्पताल तक ले जाना चुनौती भरा काम होता है. जहाजटांड़ की आबादी दस हजार के आसपास है. बीसीसीएल की मनमानी के कारण यह बस्ती एक टापू बनकर रह गयी है.

adv

इसे भी पढ़ें – गिलुवा ने कहा- 9 सितंबर से ‘घर-घर रघुवर’ अभियान, नड्डा ने कहा था- तीन तलाक व 370 होंगे मुद्दा

हमेशा बनी रहती है हादसे की आशंका

गांव की रीता देवी बताती हैं कि गांव में आने-जाने के लिए कोई रास्ता नहीं है. हमलोग खाई और गड्ढे से होकर आना-जाना करते हैं. यहां बीसीसीएल की आउटसोर्सिंग है. जिस कारण हादसे की आशंका हमेशा बनी रहती है.

इसी गांव के लक्ष्मण महतो ने कहा कि ओपन कास्ट खुल जाने के कारण हमलोगों का रास्ता खत्म हो गया. अब पहाड़ पर चढ़कर ही आना–जाना करना पड़ता है. शादी– ब्याह के लिए कोई मेहमान आता है तो वह आधे रास्ते से ही लौट जाता है.

साथ ही उन्होंने कहा कि कहने को तो यह आदर्श गांव है. लेकिन आदर्श में एक अदद सड़क भी नहीं है. आदर्श गांव के नाम पर टाटा कंपनी की ओर से सिर्फ पेयजल की व्यवस्था की गयी है. साथ ही मांग रखी कि हमारे गांव को जोड़ने के लिए सड़क चाहिए.

इसे भी पढ़ें – बिहार के डिप्टी सीएम का बेतुका बयानः कहा- हर सावन, भादो के महीने में रहती है आर्थिक मंदी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button