न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबादः नये साल से बिजली बिल भरने के लिए आपको लाइन में नहीं होना होगा खड़ा, डिजिटल हो जायेगा बोर्ड

जनवरी 2019 से नहीं कटेगी मैनुअल रसीद

1,900

Dhanbad: जनवरी 2019 से किसी भी बिजली उपभोक्ता की मैनुअल रसीद नहीं कटेगी. बिजली बिलिंग पूरी तरह से ऑनलाइन कर दी जायेगी. इसके बाद अब उपभोक्ताओं को रियल टाइम रसीद मिलेगी. ऑनलाइन रसीद कटने से झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के धनबाद एरिया के ढाई लाख उपभोक्ताओं को काफी सहूलियत मिलेगी.

अब तक बिजली बिल आने के बाद उपभोक्ता बिजली ऑफ़िस जाकर लंबे लाइन में लगकर बिजली बिल जमा करते आ रहे हैं. उन्हें बिजली बिल जमा करने की मैनुअल रसीद दी जाती थी. बिजली बिल कंप्यूटर पर चढ़ाने में एक दो दिन लग जाता है. जिससे कई बार उपभोक्ता को थोड़ी परेशानी का भी सामना करना पड़ता है. लेकिन अब उपभोक्ताओं रियल टाइम रसीद मिलेगी और उनकी समस्या में कमी आयेगी. साथ ही बिजली विभाग को भी सारा आंकड़ा रखने में आराम मिलेगा.

1 फरवरी से पूरा विभाग हो जायेगा डिजिटल!

1 फरवरी 2019 से धनबाद बिजली विभाग पूरी तरह डिजिटल हो जाएगा. फरवरी से कोई भी रिपोर्ट हैंड मेड नहीं होगी. सब कंप्यूटरीकृत और ऑनलाइन मशीन से ही होगी. सारा काम मशीन या कंप्यूटर आधारित ही किया जायेगा.

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत जुड़े 1 लाख से अधिक उपभोक्ता

धनबाद एरिया बोर्ड में प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत 1 लाख से अधिक उपभोक्ता बढ़े हैं. इनकी सारी जानकारी ऑनलाइन होने से सीधे तौर एरिया ऑफ़िस के पास होगी. अबतक धनबाद एरिया के अंतर्गत जिले में शहरी और ग्रामीण क्षेत्र मिलाकर 250 लाख उपभोक्ता हैं. जबकि इसी एरिया के अंतर्गत आने वाले चास क्षेत्र में डेढ़ लाख उपभोक्ता हैं. ऑनलाइन होने से उपभोक्ताओं की संख्या 4 लाख से बढ़कर 5 या 6 लाख होने की संभावना है.

इसे भी पढ़ेंःसेवा में बने रह सकते हैं अपर मुख्य सचिव खंडेलवाल, वीआरएस से पहले गये छुट्टी पर

इसे भी पढ़ेंः मिनिमम बैलेंस न होने पर साढ़े तीन सालों में सरकारी बैंकों ने ग्राहकों से वसूले 10 हजार करोड़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: