न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ऑडियो वायरलः धनबाद नगर आयुक्‍त ने स्थानीय नेता को फोन पर धमकाया, कहा – बेटा जेल भेज देंगे, बड़ी मार मारेंगे…

केंदुआडीह थाने में नगर आयुक्त के खिलाफ शिकायत

1,776

Dhanbad : नगर निगम के आयुक्त चंद्र मोहन कश्यप और जल उपभोक्ता समिति गड़ेरिया के सचिव सह स्थानीय नेता ध्रुव महतो के बीच रंगदारी के मसले पर गरमागरम बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया है. दोनों के बीच फोन पर इतना विवाद हुआ कि मामला थाने तक पहुंच गया. नगर आयुक्त ने ध्रुव महतो पर रंगदारी मांगने व जबरन काम बंद कराने तो ध्रुव ने उन पर धमकी देने का आरोप लगाया है. ध्रुव महतो ने केंदुआडीह थाने में नगर आयुक्त के खिलाफ लिखित शिकायत दी है.

इसे भी पढ़ें – बिना नक्शे के जीईएल चर्च कॉम्प्लेक्स में हो रहा निर्माण, निगम की इंफोर्समेंट टीम ने रुकवाया काम

Aqua Spa Salon 5/02/2020

क्या कहना है नगर आयुक्त का

नगर आयुक्त चंद्रमोहन कश्यप के अनुसार कतरास अंचल में जुडको के जरिए चेन्नई की कंपनी पेयजल आपूर्ति का काम कर रही है. पर वहां के लोकल नेता ध्रुव महतो ने 25 हजार रुपये रंगदारी मांगते हुए काम बंद करवा दिया. इसकी शिकायत कंपनी के पदाधिकारियों ने नगर निगम में की. इसके बाद डीएमसी राजेश कुमार सिंह एवं कतरास कार्यालय से स्थानीय लोगों की मौजूदगी में जांच करायी गयी. मामला सही पाया गया. चेन्नई की कंपनी की शिकायत पर रंगदारी मांग रहे ध्रुव को फोन पर समझा रहा था कि सरकारी काम में रुकावट न पैदा करें. नहीं तो अगली कार्रवाई के तहत प्राथमिकी दर्ज करायेंगे. रंगदारी के आरोप से बचने के लिए वह धमकी देने का आरोप लगा रहा है.

इसे भी पढ़ें – बीजेपी मंत्री-सांसद विवाद : मार्केट निर्माण के निरीक्षण में गये थे डिप्टी मेयर, टारगेट बने मंत्री सीपी सिंह

क्या कहना है ध्रुव महतो का

वहीं ध्रुव महतो ने कहा है कि गड़ेरिया वाटर प्लांट में चेन्नई की एक कंपनी काम कर रही है. उनके द्वारा कई बार पाइप तोड़ा गया, बाउंड्री को भी क्षति पहुंचायी गयी. इसकी वजह से कई दफा पानी की सप्लाई भी बंद हो गयी. इसलिए कंपनी को कहा कि सही तरीके से काम करे. इस पर पौने पांच बजे नगर निगम कमिश्नर के मोबाइल से फोन आता है कि घर छोड़ कर भाग जाओ, घर में घुस कर मारेंगे.

नगर आयुक्त व ध्रुव महतो में फोन पर हुई बातचीत

ध्रुव महतो : के, फोन किये थे आप.

नगर आयुक्त : निगम कमिश्नर बोल रहे हैं, आप ध्रुव महतो हैं क्या. एक आपके विरुद्ध शिकायत आया है कि कंपनी जो काम कर रही है वाटर सप्लाई का उसमें अड़ंगा डाल रहे हैं, कहां घर है आपका?

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

ध्रुव महतो : जहां कंपनी का काम हो रहा है वहीं घर है.

नगर आयुक्त : इनका आरोप है कि आप परेशान कर रहे हैं. बेटा, भेज देंगे जेल. सुधार जाओ वार्निंग दे रहे हैं तुमको हम.

Related Posts

ध्रुव महतो : वार्निंग दे रहे हैं, किस बात का सर, यहां कंपनी ने पूरा प्लांट डिस्टर्ब करके रखा हुआ है.

नगर आयुक्त : इतना मार मारेंगे समझ जाना. तुम पैसा मांग रहे हो, काम बंद करवा दिये हो. सरकारी काम में बाधा डालने पर कल तुम्हारे ऊपर एफआइआर कर दूंगा, अरेस्ट करवाउंगा. अपना घर छोड़ कर भाग जाओ, कल ही एसएसपी से बात कर तुमको अरेस्ट कराउंगा. तुमसे भारी गुंडा हम हैं, पहले मैं गुंडई करता था, अब नौकरी करने लगा हूं.

ध्रुव महतो : सर मेरी बात तो सुनिए.

नगर आयुक्त : अभी मैं सज्जनता से बात कर रहा हूं. निवेदन कर रहा हूं कि रंगदारी छोड़ दो. तुमरे घर में घुस कर मारूंगा. अभी चेतावनी हम दे रहे हैं.

ध्रुव महतो : नहीं सर, पहले बिना सच्चाई जाने कुछ मत बोलिए.

नगर आयुक्त : सरकारी काम में बाधा डालियेगा, बड़ी दिक्कत हो जायेगा, 25 हजार रुपये रंगदारी मांग रहे हैं?

ध्रुव महतो : कौन बोल दिया सर. यह गलत आरोप काहे लगा रहे हैं?

नगर आयुक्त : आप ही काम बंद करवाये हैं.

ध्रुव महतो : इस प्लांट में हम चेयरमैन हैं सर.

नगर आयुक्त : बड़ी मार मारेंगे. सारी चेयरमैनशिप भुला जाओगे.

ध्रुव महतो : प्लांट बंद करवा दीजिए फिर, एफआइआर कीजिए चाहे जो मर्जी कीजिए, पहले प्लांट बंद करवा दीजिए.

इसे भी पढ़ें – कर्नाटक का सियासी पारा चरम पर, विधानसभा स्थगित, अब सोमवार को फ्लोर टेस्ट

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like