DhanbadJharkhand

धनबाद : मनरेगा आयुक्त ने की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा

Dhanbad : मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने ग्रामीण विकास विभाग की अध्यक्षता में आज समाहरणालय के सभाकक्ष में मनरेगा योजना, प्रधानमंत्री आवास-ग्रामीण, रूर्बन एवं 15वां वित्त आयेग की समीक्षा की गयी. समीक्षा के दौरान मनरेगा आयुक्त ने सभी पुरानी लंबित योजनाओं को यथाशीघ्र पूर्ण करते हुए बंद करने का निर्देश दिया.
मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी ने सामाजिक अंकेक्षण (एटीआर) की समीक्षा के दौरान सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले एग्यारकुण्ड प्रखंड के प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी श्रीकांत मण्डल से स्पष्टीकरण करते हुए वेतन पर रोक लगाने, गोविंदपुर प्रखंड के एनएमएमएस द्वारा मस्टर रॉल नहीं करने के लिए गोविंदपुर के प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी जितेंद्र कुमार एवं शाहीदा बेगम के स्पष्टीकरण करते हुए वेतन पर रोक लगाने का निर्देश दिया.

Advt

योजनाओं की समीक्षा करने के बाद मनरेगा आयुक्त ने मनरेगा के सामाजिक अंकेक्षण (एटीआर) के तहत सभी मामलों को 15 दिनां के अंदर साक्ष्य के साथ अपलोड करते हुए सभी मुद्दों को बंद करने तथा सामाजिक अंकेक्षण (एटीआर) के अन्तर्गत वसूल की गई राशि को एमआईएस में परिलक्षित करने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें:भाजपा ने एक बार फिर की जेपीएससी चेयरमैन को बर्खास्त करने की मांग

उन्होंने रिजेक्टेड ट्रांजेकशन, एनएमएमएस, एरिया ऑफिसर विजिट एप, जीयो मनरेगा, जॉब कार्ड वेरिफिकेशन, आंगनबाड़ी केंद्र, सभी लाभुकों का आधार नंबर सत्यापित करने का निर्देश दिया.

बैठक में मनरेगा आयुक्त के साथ उप विकास आयुक्त दशरथ चंद्र दास, जिला पंचायत राज पदाधिकारी, परियोजना पदाधिकारी, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, सभी प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी, जिला श्रोत व्यक्ति उपस्थित थे. वहीं ऑनलाइन माध्यम से सभी सहायक अभियंता, कनीय अभियंता, बी.सी., पीएमईजी ग्रामीण एवं पंचायती राज, सभी पंचायत सचिव, सभी ग्राम रोजगार सेवक जुड़े हुए थे.

इसे भी पढ़ें:आरपीएन सिंह के इस्तीफे और भाजपा में शामिल होने से झारखंड की सत्ता के समीकरण पर पड़ सकता है प्रभाव

Advt

Related Articles

Back to top button