JharkhandMain SliderRanchi

धनबाद-झरिया पर सुदेश महतो के कमेंट से धनबाद विधायक राज नाराज, बोले- देश का गौरव है धनबाद

बेरमो में चुनावी सभा में सुदेश का था बयान- बेरमो को नहीं बनने देंगे धनबाद और झरिया

Jharkhand Rai

Ranchi : धनबाद विधायक राज सिन्हा आजसू पार्टी प्रमुख सुदेश महतो के एक बयान से खफा हो गये हैं. 30 अक्टूबर को सुदेश ने बोकारो में एक चुनावी सभा की थी. बेरमो विधानसभा सीट पर एनडीए कैंडिडेट योगेश्वर महतो बाटुल के समर्थन में आयोजित इस सभा में उन्होंने कहा था कि आजसू कभी भी बेरमो को धनबाद और झरिया नहीं बनने देगा. बेरमो में कांग्रेस और झामुमो कोयला खदानों की काली कमाई और लूट को लेकर एक-दूसरे के खिलाफ हमेशा लड़ते रहे हैं. ऐसे में अब बेरमो को झरिया और धनबाद की तरह नहीं बनने दिया जायेगा. राज सिन्हा ने सुदेश के इस बयान पर कहा है कि धनबाद राज्य का ही नहीं, देश का गौरव है. आजसू का बयान धनबाद की जनता का अपमान है.

इसे भी पढ़ेंः सबसे पहले कोविड-19 के नियंत्रण में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को चिन्हित कर हो टीकाकरण : डीसी

धनबाद से रौशन है देश

न्यूज विंग से बातचीत में राज सिन्हा ने कहा कि सुदेश महतो तजुर्बेकार राजनेता हैं. सरकार में भी महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं. ऐसे में उन्हें धनबाद को लेकर सोच-समझकर कहना चाहिए. धनबाद कई लिहाज से न सिर्फ झारखंड, बल्कि देश-दुनिया में जाना-माना शहर है. यहां आईटी सेंटर, मेडिकल कॉलेज, महत्वपूर्ण शैक्षणिक संस्थान, नेशनल-इंटरनेशनल स्तर के भी सेंटर हैं.

Samford

कोयला से समृद्ध इस इलाके से न सिर्फ राज्य लाभान्वित होता रहा है, बल्कि देश को भी राजस्व की प्राप्ति होती है. कोयले से कई प्लांट चल रहे हैं और इनसे बिजली उत्पादन कर उसका लाभ उठाया जा रहा है. धनबाद से देश रौशन हो रहा है. धनबाद की तरक्की में स्थानीय जनता भाजपा को भी भागीदार मानती है. यही कारण है कि यहां से पार्टी को चुनावों में लगातार जनसमर्थन मिलता आया है. ऐसे में सुदेश का बयान धनबाद की जनता को अपमानित करने जैसा है.

इसे भी पढ़ेंः Koderma :  कांग्रेस ने सत्याग्रह एवं उपवास कार्यक्रम आयोजित किया, किसान विरोधी कानून वापस लेने की मांग

विधि-व्यवस्था का सवाल न खड़ा हो, इस संदर्भ था बयान : देवशरण भगत

इधर, आजसू पार्टी प्रवक्ता देवशरण भगत के अनुसार हर समाज अपने यहां शांति-सुकून चाहता है. बेरमो में कांग्रेस, झामुमो कोयला कारोबार में एक-दूसरे के खिलाफ लाठी चलाते रहे हैं. यहां की जनता उपचुनाव में विकास और शांति के लिए एनडीए प्रत्याशी को जितायेगी. कोलियरी वाली अन्य जगहों की तरह यहां विधि-व्यवस्था का सवाल न खड़ा हो, इसी संदर्भ में चुनावी सभा में बात कही गयी है.

इसे भी पढ़ेंः भाई-बहन की हत्या मामले में डीजीपी ने लिया एक्शन, लोहरदगा एसपी से कहा- सदर थानेदार को सस्पेंड करें

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: