न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पानी की समस्‍या से जुझ रहे झरियावासियों ने कहा : पानी नहीं, तो वोट नहीं

130

Dhanbad :  कोयलांचल का झरिया कई महीनों से पानी की समस्या से जुझ रहा है ,लेकिन आज तक कोई जनप्रतिनिधि इस समस्या का निदान करने की कोई पहल नहीं की. जिसके कारण झरियावासियों ने इस बार पानी नहीं तो वोट नहीं का बैनर लगा कर इसबार लोकसभा में नोटा पर वोट मारने का ऐलान  कर दिया है.

पानी के लिए भटकना पड़ता है

आपको बता दें कि धनबाद के झरिया के कई इलाकों में पानी नहीं मिलाने से लोग त्रहिमाम- त्रहिमाम कर रहे हैं. पिक्षले कई महीनों ने पानी की समस्या को लेकर स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत स्थानीय जनप्रतिनिधि से लेकर मुख्यमंत्री तक की, लेकिन समस्या जस का तस बना हुआ है.

जिससे परेशान झरियावासियों ने इस चुनाव में किसी प्रत्याशी को वोट नहीं देने का एलान किया है. इस समस्या को लेकर नगरवासियों ने कई जगह पर बैनर पोस्टर लगा कर लिखा है कि पानी नहीं, तो वोट नहीं.

इसे भी पढ़ें : हेमंत सोरेन सिर्फ इतना बता दें वो किस थाना क्षेत्र के निवासी हैं, उनका…

पानी के सवाल पर भड़के सांसद

वहीं पानी की किल्लत झेल रहे झरिया के बारे में जब स्थानीय सांसद पीएन सिंह से सवाल किया गया तो सांसद महोदय मीडिया पर ही भड़क गए. भड़के हुए लब्जों में सांसद महोदय ने कहा ये स्थायी समस्या है, जो हर साल गर्मी में धनबाद में होता है, जिसके निदान के लिए प्रयास किया जा रहा है.

Related Posts

धनबाद : कासा सोसाइटी में बिजली मिस्त्री की मौत, मामला संदेहास्पद

सोसाइटी के लोगों का कहना है कि यह महज एक दुर्घटना नहीं है, बल्कि बिजली मिस्त्री की हत्या की गयी है.

SMILE

इसे भी पढ़ें :  क्या डीजीपी डीके पांडेय भी हटाए जाएंगे !

कई जगह लगा चुके हैं पानी के लिए गुहार

इस मामले में स्थानीय महिला का कहना है कि पानी के लिए प्रतिदिन हमलोगों को काफी परेशानी उठाना पड़ता है. साथ ही महिलाओं का ये भी कहना है कि एक-एक पैसे जाम कर माडा  से पानी का कनेक्शन लिए, लेकिन कई महीनों से शुचारु रूप से पानी नहीं मिल रहा है.

पानी के लिए प्रतिदिन दर-दर भटकना पड़ता है. कई बार इस समस्या को लेकर कई जगह आवेदन भी दिये, लेकिन आज तक पानी की समस्या का समाधान नहीं हो पाया. जिसके कारण हम सभी महिलाएं किसी भी प्रत्‍याशी को वोट नहीं देने का निर्णय लिया है.

इसे भी पढ़ें : पांच सालों में तीन सांसद बने रहे बैक बेंचर- नहीं पूछा एक भी सवाल, सात एमपी बहस में हिस्सा लेने में…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: