DhanbadJharkhand

विधायक ढुल्लू महतो की जीत को हाइकोर्ट में चुनौती देंगे जलेश्वर, कहा- नामांकन और मतगणना तक में हुई गड़बड़ी

Dhanbad : बाघमारा विधानसभा सीट से भले ही विधायक ढुल्लू महतो किसी तरह जीत की हैट्रिक लगाने में सफल हो गये हों लेकिन उनकी विधायकी अभी भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं.

एक ओर पूर्व बियाडा अध्यक्ष विजय कुमार झा ने सजा के मामले में सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ के एक फैसले के आधार पर ढुल्लू महतो की विधायकी रद्द करने के लिए झारखंड विधानसभा अध्यक्ष के पास अर्जी लगा रखी है.

वहीं चुनाव में मात्र 824 वोटों से पराजित हुए महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी जलेश्वर महतो ढुल्लू के निर्वाचन को हाइकोर्ट में चुनौती देने जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः #Trump ने ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई को चेताया, संभल कर बोलें…

कई बिंदुओं पर बरती गयी अनियमितता

जलेश्वर महतो ने नामांकन, चुनाव और मतगणना की पूरी प्रक्रिया के दौरान निष्पक्षता पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि कई बिंदुओ पर घोर अनियमितता बरती गयी. और अब वे इसी मामले को लेकर बाघमारा सीट पर फिर से चुनाव के लिए हाइकोर्ट में याचिका दाखिल करने जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि इसकी तैयारी की जा चुकी है. बहुत जल्द ही यह याचिका दाखिल होगी. इस संबंध में जलेश्वर महतो ने कहा कि वह इस दिशा में काम कर रहे हैं. हालांकि उन्होंने याचिका के आधार बिंदुओं का खुलासा करने से फिलहाल इनकार कर दिया है.

इसे भी पढ़ेंः बिकने को तैयार है #Vijay_Mallya की फ्रांस की 17 बेडरूम, सिनेमा हॉल, हेलिपैड, नाइट क्लब वाली हवेली

मामूली वोटों से हारे थे जलेश्वर महतो

हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में बाघमारा के बीजेपी प्रत्याशी ढुल्लू महतो को जहां कुल 78291 वोट (43.71%) मिले थे, वहीं कांग्रेस प्रत्याशी जलेश्वर महतो को 77467 वोट (43.25% )मिले. अंतिम समय तक चली कांटे की टक्कर में ढुल्लू महतो 824 वोटों से निर्वाचित घोषित किये गये थे.

बताया जाता है कि जहां कांग्रेस समर्थकों ने विजय जुलूस निकालने की पूरी तैयारी कर ली थी. वहीं ढुल्लू महतो के निर्वाचन की घोषणा होने के बाद भी भाजपा कार्यकर्ताओं और ढुल्लू समर्थकों ने विजय जुलूस नहीं निकाला.

इसे भी पढ़ेंः भ्रष्टाचार का सबूत हो तो सिर्फ इसलिए कार्रवाई नहीं करना कि उसे बदले की भावना समझी जायेगी, सही नहीं: सरयू राय

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close