न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबादः 18 सूत्री मांगों को लेकर मजदूरों का अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार

निरसा विधायक का मिला साथ, एनटीपीसी की तर्ज पर वेतनमान देने की मांग

496

Dhanbad: धनबाद के निरसा स्थित मैथन पावर लिमिटेड में कार्य बहिष्कार किया गया है. मजदूरों के हित में 18 सूत्री मांग को लेकर मार्क्सवादी समन्वय समय समिति द्वारा अनिश्चितकालीन कार्य का बहिष्कार जारी हैं.

एनटीपीसी की तर्ज पर वेतनमान की मांग

मार्क्सवादी समन्वय समिति के बैनर तले धरना दे रहे मजदूरों की मुख्य मांग हैं कि उन्हें एनटीपीसी की तर्ज पर वेतनमान दिया जाये. जबकि प्रबंधन इस मुख्य मांग को मानने से इनकार कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंःरामचंद्र सहिस होंगे आजसू कोटे से मंत्री, कल पांच बजे राजभवन में लेंगे शपथ

वही मजदूर संगठन की अगुवाई कर रहे निरसा से मार्क्सवादी समन्वय समिति के विधायक अरूप चटर्जी ने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी मुख्य मांग को जब तक प्रबंधन पूरा नहीं करता है तबतक आंदोलन जारी रहेगा.

वही अब तक आंदोलन की समाप्ति को लेकर एमपीएलए प्रबंधन, मजदूर औऱ जिला प्रशासन के बीच कई बार त्रिस्तरीय वार्ता हो चुकी है. लेकिन अब तक सभी प्रयास विफल रहे हैं. हालांकि जिला प्रशासन द्वारा आंदोलन खत्म करने को लेकर अब भी प्रयास जारी है.

विस्थापितों और मजदूरों द्वारा 10 जून से जारी आंदोलन को लेकर जिला प्रशासन ने एमपीएल परिसर के आसपास निषेधज्ञा लागू कर रखा है. फिलहाल निरसा विधायक स्वयं परिसर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं.

विधायक अरूप चटर्जी ने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी मांग पूरी नहीं हो जाती तबतक आंदोलन जारी रहेगा. साथ ही विधायक ने इस लड़ाई को विस्थापितों औऱ मजदूरों की हक की लड़ाई बताया.

Related Posts

धनबादः बेहतर ट्रैफिक व्यवस्था के लिए उच्च स्तरीय कमेटी का गठन- डीसी

न्यूज विंग से बातचीत में ट्रैफिक समस्या पर उपायुक्त ने रखी अपनी बात

SMILE

इसे भी पढ़ेंः14वें वित्त आयोग से मिले 4214.33 करोड़ का ऑडिट टेंडर होगा रद्द

वही इस पूरे मामले पर एमपीएल प्रबंधन ने विधायक की अगुवाई में चल रहे इस धरने को विकास विरोधी बताया. साथ ही उन्होंने कहा कि विस्थापितों की नीति सहयोगपूर्ण नहीं है.

अगर स्थिति ऐसी ही रही तो प्लांट को आगे चलाना मुश्किल है. फिलहाल एमपीएल प्रबंधन ने पूरे मामले को राज्य के मुख्य सचिव को सूचित कर दिया है.

धरने पर राजनीति गर्म

वही इस धरने पर राजनीति गरमायी हुई है. इस धरने को झामुमो नेता अशोक मंडल ने राजनीतिक भावना से प्रेरित बताया. अशोक मंडल ने विधायक अरूप चटर्जी पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि विधायक इस प्लांट को बंद करना चाहते हैं. वही आंदोलन का असर बिजली उत्पादन पर भी पड़ा है.

फिलहाल मजदूरों का आंदोलन जारी है. सुरक्षा के लिए पूरे परिसर में पर्याप्त सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंडः तो क्या तमाम व्यवस्था डिरेल हो गयी है मुख्यमंत्री जी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: