DhanbadJharkhand

#Dhanbad: हाइकोर्ट ने DAV प्लस टू मैदान के बीच से सड़क निर्माण पर लगायी रोक

Dhanbad : पुराना बाजार डीएवी प्लस टू स्कूल मैदान के बीच से सड़क निर्माण पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है. साथ ही हाईकोर्ट ने रेलवे को स्कूल मैदान की जमीन को 30 वर्षों के लिए लीज पर देने का आदेश दिया है.

हाईकोर्ट ने बुधवार को यह फैसला समाजसेवी रंजीत परमार द्वारा दायर जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए दिया है.

रेलवे की ओर से धनबाद रेलवे स्टेशन के दक्षिणी छोर को जोड़ने के लिए डीएवी स्कूल मैदान के बीच से सड़क का निर्माण किया जा रहा था.

advt

रंजीत परमान ने इसी मामले को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी. उन्होंने याचिका में कहा था कि स्कूल मैदान के बीच से सड़क निर्माण होने से बच्चों का मैदान छिन जायेगा और स्कूल की मान्यता पर संकट उत्पन्न हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें : नक्सल प्रभावित अरमो में 22 लाख की लागत से बने बहुउद्देशीय भवन में सहकारी समिति चला रही है स्कूल

16 जनवरी को आरपीएफ ने किया था लाठीचार्ज

स्कूल मैदान के बीच से सड़क निर्माण होने के खिलाफ काफी दिनों से आंदोलन चल रहा था. समाजसेवी रंजीत परमार के नेतृत्व में लोग अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे थे.

समय-समय पर डीएवी प्लसू टू स्कूल के बच्चों ने भी धरना में शामिल होकर मैदान के बीच से सड़क निर्माण का विरोध किया था.

adv

16 जनवरी को आरपीएफ ने धरना दे रहे स्कूल के बच्चे व अन्य को हटाकर सड़क निर्माण की कोशिश की. इस दौरान आरपीएफ की ओर से लाठीचार्ज भी किया गया.

आरपीएफ पर सड़क निर्माण का विरोध कर रहे बच्चों पर भी लाठीचार्ज करने का आरोप लगा. इस मामले की जमकर निंदा भी की गयी.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi: सदर अस्पताल में दो साल बाद भी तैयार नहीं हो सका डायलिसिस सेंटर

आंदोलनकारियों ने हाईकोर्ट के फैसले पर जतायी खुशी

सड़क निर्माण के विरोध में अनिश्चितकाल के लिए धरने पर बैठे लोगों ने हाईकोर्ट के इस फैसले पर खुशी जाहिर की और रंग-अबीर लगाकर अपनी प्रसन्नता का इजहार किया.

इस दौरान रंजीत परमार ने कहा कि यह सत्य की जीत हुई है. स्कूल मैदान के बीच से सड़क निर्माण होने से बच्चों का मैदान छिन जाता और स्कूल की मान्यता पर भी संकट मंडराने लगता.

हाईकोर्ट ने बच्चों के भविष्य को देखते हुए यह फैसला सुनाया है.

इसे भी पढ़ें : #Jharkhand: ज्वाइनिंग के 7 महीने बाद भी नहीं मिल सका है नवनियुक्त प्राथमिक शिक्षकों को वेतन

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button