Crime NewsDhanbadJharkhandKhas-KhabarRanchi

धनबाद: बार-बार रिपोर्ट तैयार करवाती है सरकार, फिर भी नहीं रुक रहा अवैध कोयले का कारोबार

Ranchi/Dhanbad: सरकार के द्वारा बार बार अवैध कोयले से संबंधित रिपोर्ट तैयार कराने और इस  कारोबार में शामिल कोयला माफियाओं को चिन्हित करने के बावजूद भी धनबाद में अवैध कोयले का कारोबार नहीं रुक रहा है.

धनबाद का गोविंदपुर इलाका अवैध कोयला खपाने का सेफ जोन बनता जा रहा है. हाइवा और साइकिल में लोड कर अवैध कोयले को गोविंदपुर के कोल डिपो व भठ्ठों में खपाया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक निरसा थाना क्षेत्र से अवैध कोयले को बड़े पैमाने पर गोविंदपुर थाना क्षेत्र में ईट भट्ठा और कोयला डिपो में खपाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- जानिए कैसे बीते पांच साल के रघुवर काल में टाटा प्रबंधन हुआ मजबूत और मजदूर हुए कमजोर- (1)

रिपोर्ट-रिपोर्ट के खेल के बीच धड़ल्ले से चल रहा कोयले का काला कारोबार

Sanjeevani

रिपोर्ट-रिपोर्ट के खेल के बीच धनबाद में धड़ल्ले से कोयले की तस्करी का काम चल रहा है. इस साल अवैध कोयला कारोबार को लेकर सीआइडी मुख्यालय को एक गोपनीय रिपोर्ट भेजी गयी थी. इस रिपोर्ट में सफेदपोश, स्थानीय नेताओं, माफिया और पुलिस के गठजोड़ का जिक्र है.

झारखंड के मुख्यमंत्री के आदेश के बाद यह जांच शुरू हुई थी. सीएम के आदेश पर ही सीआइडी टीम धनबाद ने मामले की जांच कर एक गोपनीय रिपोर्ट सीआइडी मुख्यालय को भेजी थी.

सीआइडी मुख्यालय ने इस रिपोर्ट को पुलिस मुख्यालय को कार्रवाई के लिए भेजा था. साथ ही धनबाद पुलिस को भी इस संबंध में कार्रवाई के लिए लिखा गया था.

इसके अलावा साल 2018 में भी धनबाद में कोयले के अवैध कारोबार की हुई सीआइडी जांच में चौंकाने वाले तथ्य सामने आये थे. सीआइडी ने जांच के दौरान 27 ऐसे कोयला कारोबारियों की पहचान की थी, जो कोयले के अवैध कारोबार में शामिल बताये जा रहे थे.

इसकी पूरी रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को भेजी गयी थी और धनबाद पुलिस को भी कार्रवाई के लिए लिखा गया था. इसके बावजूद भी धनबाद में अवैध कोयला कारोबार पर लगाम लगने का नाम नहीं ले रहा है. जानकारी के मुताबिक अवैध कोयले के इस कारोबार में स्थानीय पुलिस से लेकर स्थानीय नेता और कोयला माफिया सब भागीदार है.

इसे भी पढ़ें- टिकट बंटने और दल बदल की भागम-भागी के बाद जाने कहां कांग्रेस हुई मजबूत और कहां कमजोर

जीटी रोड के हार्ड कोक भट्ठा में खप रहा अवैध कोयला

जानकारी के मुताबिक, जीटी रोड स्थित हार्ड कोक भट्ठा में अवैध कोयला कारोबार फल फूल रहा है. बीसीसीएल के बंद खादानों, बंद आउट सोर्सिंग, पुराने बंद सीम, मुहान से कोयला काटकर स्कूटर, साईकिल और बाइक में लादकर अवैध भट्ठों में चोरी छिपे भेजा जाता है. अवैध कोयले का खेप बंगाल भी भेजा जाता है. अवैध तरीके से निकाले गये कोयले को यूपी-बिहार भेजने का काम जारी है.

गोविंदपुर में खपाया जा रहा निरसा का अवैध कोयला

अवैध कोयला गोविंदपुर थाना क्षेत्र स्थित ईट भट्ठे और कोल डिपो में खपाया जा रहा है. हाल के महीनों में कई मामले पकड़ में आये हैं. इससे अवैध कोयला कारोबार के सिंडिकेट का गोविंदपुर क्षेत्र में सक्रिय होने को बल मिलने लगा है. यह सारा खेल सेटिंग-गेटिंग से चल रहा है. बताया जा रहा है कि निरसा थाना क्षेत्र से प्रतिदिन हजारों टन कोयले की चोरी हो रही है.

गोविंदपुर क्षेत्र में साइकिल, बाइक और हाईवा से कच्चा कोयला डिपो व भठ्ठों में पहुंचता है.भठ्ठा में कोयला पहुंचने पर वैध हो जाता है. उसे कच्चा व सोफ्ट कोक बनाकर मंडी में सप्लाई किया जाता है.

इसे भी पढ़ें- ऑडिट रिपोर्ट तो फाइल कर रही राज्य की प्रमुख क्षेत्रीय पार्टियां, लेकिन इलेक्ट्रोल बॉन्ड की नहीं दे रही जानकारी

अवैध कोयला जब्त होने के मामले

  • 21 अक्टूबर 2019: धनबाद के गोविंदपुर में सॉफ्ट कोक इंडस्ट्रीज में छापा मारा गया. छापामारी में एक ट्रक सहित 60 टन कोयला जब्त किया गया.
  • 13 सितंबर 2019: धनबाद गोविंदपुर स्थित बरवा पूर्व के दलदली गांव में दो कोयला भट्ठों से 25 टन अवैध कोयला बरामद किया गया था.
  • 19 अगस्त 2019: गोविंदपुर के आसना जंगल में चोरी के कोयले के साथ मिनी हाइवा पकड़ाया. जंगल में रात के अंधेरे में काफी समय से कोयला का अवैध कारोबार किया जा रहा था. पुलिस ने आधी रात छापेमारी कर पांच टन कोयला के साथ हाइवा जब्त किया था.
  • 16 सितंबर 2019: धनबाद में गोविंदपुर पुलिस ने नगरकियारी रोड में गोल पहाड़ी के समीप छापेमारी कर 8 टन अवैध कोयला जब्त किया था.

Related Articles

Back to top button