DhanbadTop Story

धनबादः वाटर हार्वेस्टिंग कर एकलव्य प्रसाद ने एक साल में बचाया 11 लाख लीटर पानी

विज्ञापन

बिहार के बाढ़ पीड़ित इलाको में भी कर चुके हैं, जल संग्रह कर पीने योग्य पानी बनाने का काम

धनबाद में महज 21 फीसदी लोगों को ही सप्लाई के जरिये मिलता है पानी

Dhanbad: गहराते जल संकट के कारण आज सरकार से लेकर आम आदमी हर कोई चिंतित है. पानी की समस्या को दूर करने के लिए सरकार जल सरंक्षण पर जोर दे रही है. वाटर हार्वेस्टिंग के जरिये पानी की किल्लत को काफी हद तक कम किया जा सकता है.

इन तमाम कोशिशों के बीच धनबाद के एक शख्स ने कुछ ऐसा ही प्रयास कर अपने घर में ही एक साल में लगभग 11 लाख लीटर जल संग्रह किया है.

इसे भी पढ़ेंःसरायकेलाः पांच जवानों की हत्या में शामिल चार नक्सलियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

तीन स्थानों पर जल संग्रह

शहर के बीचोंबीच बना घर उत्तरायण, आज धनबाद वासियों के लिए मिसाल है. मेघ पाइन नामक संस्था में काम करनेवाले एकलव्य प्रसाद ने अपने इस घर में पानी के संचयन के लिए पूरी व्यवस्था की है.

एकलव्य ने अपने 2250 स्क्वॉयर फीट के घर में तीन जगहों पर जल संग्रह किया हुआ है. एक कुएं में पानी रिस्टोर करते हैं जबकि दो जगहों पर पानी को सतह में रिचार्ज करते हैं.

एकलव्य प्रसाद की मानें तो वर्ष 2016 में धनबाद में कम बारिश के कारण पानी की घोर किल्लत हुई थी. जिसे देखते हुए उन्होंने जल संग्रह करने की ठान ली. एकलव्य ने पानी बचाने को लेकर काफी काम भी किया.

एक साल में बचाया 11 लाख लीटर पानी

इस रेन वाटर हार्वेस्टिंग के माध्यम से एकलव्य ने 2018 में लगभग 11 लाख लीटर जल संग्रह किया और 2019 में 21 जून से 9 जुलाई के बीच हुई बारिश में लगभग 4 लाख लीटर जल संग्रह किया.

इसे भी पढ़ेंःराज्य में 29 हजार की जगह बचे हैं मात्र तीन हजार DDO, इस साल से सरकार खत्म कर रही पद

वही एकलव्य ने कहा कि हर साल अगर बरसात अच्छी हुई तो लगभग 27 लाख लीटर जल संग्रह किया जा सकता है. उनकी मानें तो एक घर में सालाना लगभग 2 लाख लीटर पानी खर्च होता है.

शहर की 21 फीसदी आबादी सप्लाई वाटर पर निर्भर

धनबाद में तकरीबन 79 फीसदी लोग सतह जल पर निर्भर है. महज 21 फीसदी आबादी के घरों तक सप्लाई वाटर पहुंचता है. ऐसे में अगर जल संग्रह किया जाये तो बुरे वक्त में कई घरों की पानी की समस्या खत्म हो सकती है.

जल संग्रह पर कर चुके हैं काम

एकलव्य प्रसाद जल संचयन पर काफी काम कर चुके हैं. उन्होंने बिहार में भी बाढ़ पीड़ितों के लिए जल संग्रह का काम किया है. इसके अलावा राजस्थान में भी वाटर हार्वेस्टिंग पर काफी काम किये हैं.

वाटर हार्वेस्टिंग जरुरी- एकलव्य

एकलव्य प्रसाद ने न्यूज विंग के माध्यम से जनता से पानी बचाने की अपील की. उन्होंने कहा कि सभी लोग अपने-अपने घर में रेन हार्वेस्टिंग करें और बरसात के बहते पानी को रिचार्ज करें.
साथ ही अपने कैंपस के आसपास पौधे भी लगाये. ताकि आने वाली पीढ़ी को पानी की किल्लत ना झेलनी पड़े और हमारा पर्यावरण भी स्वच्छ रहे.

वहीं धनबाद के उप विकास आयुक्त शशि रंजन ने भी एकलव्य द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की. उन्होंने कहा कि एकलव्य ने धनबाद में एक मिसाल कायम की है. आने वाले दिनों में जल संकट से निपटने के लिए सभी को एकलव्य की तरह आगे आना होगा.

साथ ही उप विकास आयुक्त ने यह भी कहा कि धनबाद शहर में जो नये भवन का निर्माण हो रहा है उसे सरकारी नियम के तहत जल संग्रह करना जरूरी है. जिसे लेकर सरकार भी सख्त है और धनबाद में लगातार जल संग्रह को लेकर जलशक्ति अभियान भी चलाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःगोडसे महान, बैट से पीटा, मीडिया की औकात क्या, खून बहा देंगे और भाजपा खेल रही नोटिस-नोटिस

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close