DhanbadJharkhand

धनबाद : होल्डिंग टैक्स वसूली को लेकर निगम रेस, डीएवी ग्रुप के स्कूलों का खाता सीज

विज्ञापन

Dhanbad : होल्डिंग टैक्स वसूली को लेकर धनबाद नगर निगम एक्टिव हो गया है. निगम क्षेत्र के तीन स्कूलों का बैंक खाता सीज कर दिया गया है. क्योंकि बार-बार नोटिस के बावजूद होल्डिंग टैक्स जमा नहीं करने पर डीएवी ग्रुप के कोयला नगर, अलकुसा और कुसुंडा स्कूल का बैंक खाता सीज कर दिया गया है. एचडीएफसी बैंक को पत्र लिखकर तीनों स्कूलों का अकाउंट सीज करने का निर्देश दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – डीजीपी की पत्नी ने ली जमीन तो खुल गया टीओपी और ट्रैफिक पोस्ट, हो रहा पुलिस के नाम व साइन बोर्ड का…

तीनों स्कूल पर 63 लाख टैक्स का बकाया

तीनों स्कूल पर 63 लाख होल्डिंग टैक्स का बकाया निकल रहा है. नगर निगम ने डीएवी कोयला नगर, अलकुसा व कुसुंडा को, होल्डिंग टैक्स जमा करने के लिए नोटिस भेजा था. साथ ही टैक्स जमा नहीं करने पर अकाउंट सीज करने की भी चेतावनी दी गई थी.

advt

स्कूल द्वारा बीसीसीएल की जमीन पर स्कूल चलने का हवाला देते हुए होल्डिंग टैक्स देने में असमर्थता जाहिर की गई थी. नोटिस का कोई असर नहीं होने पर निगम को तीनों स्कूल का अकाउंट सीज करने का कदम उठाना पड़ा.

इसे भी पढ़ें – 14वें वित्त आयोग से मिले 4214.33 करोड़ का ऑडिट नहीं कराना चाहती सरकार! आठ माह में एजेंसी तक तय नहीं

होल्डिंग टैक्स भुगतान के लिए हुआ था नोटिस – नगर आयुक्त 

गौरतलब है कि नगर निगम लगातार सख्त कदम बड़े होल्डिंग बकायेदारों के खिलाफ उठा रहा है. विभाग ने डीपीएस, अशर्फी अस्पताल, बालिका विद्या मंदिर और मातृ सदन के बाद अब डीएवी ग्रुप के स्कूलों पर नकेल कस दिया है.  पहले निगम ने डीपीएस, अशर्फी अस्पताल, मातृ सदन और बालिका विद्या मंदिर का अकाउंट सीज किया है. डीपीएस पर 34 लाख होल्डिंग टैक्स बकाया था. अब इसी कड़ी में डीएवी ग्रुप के इन तीनों स्कूलों पर कार्रवाई की गई है.

नगर आयुक्त चंद्रमोहन कश्यप ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा है कि होल्डिंग टैक्स भुगतान करने के लिए नोटिस किया गया था. टैक्स जमा नहीं करने पर डीएवी कोयला नगर, अलकुसा व कुसुंडा का अकाउंट सीज किया गया है. इस तरह की कार्रवाई भविष्य में भी जारी रहेगी.

adv

भाड़ा बकाया पर हीरापुर हटिया में दुकान सील 

दुकान का भाड़ा बकाया रखने पर नगर निगम ने हीरापुर हटिया में दुकान संख्या चार व शेड संख्या 12 को सील कर दिया है. उमेश कुमार सिंह के नाम से आवंटित दुकान का भाड़ा 132 महीना से लंबित है. 29184 रुपये भाड़ा बकाया है. बकाया भाड़ा भुगतान नहीं करने पर दुकान का आवंटन रद्द करने की चेतावनी दी गई थी. इसके बावजूद बकाया भाड़ा का भुगतान नहीं किया गया. पुलिस बल की मौजूदगी में दुकान को सील करते हुए खाली कराया गया. अब दुकान का आवंटन भी रद किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें – दर्द-ए-पारा शिक्षकः सबसे ज्यादा शर्म तो राशन दुकानवाले को मुंह दिखाने में आती है, गैस तो तीन महीने…

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button