DhanbadJharkhandlok sabha election 2019

धनबादः कीर्ति आजाद को टिकट मिलने के कयास के साथ ही शुरू हुआ विरोध

Dhanbad: बीजेपी के पूर्व नेता और सांसद कीर्ति आजाद को धनबाद से टिकट मिलने की आशंकाओं के बीच विरोध भी शुरू हो गया है.

Sanjeevani

ज्ञात हो कि महागठबंधन में धनबाद की सीट कांग्रेस के खाते में आयी है. और चर्चा है कि कांग्रेस इस सीट से कीर्ति आजाद को प्रत्याशी बनाने के मूड में है.

MDLM

इस बात का धनबाद के अल्पसंख्यक समाज के लोग विरोध कर रहे हैं. अल्पसंख्यक समुदाय से जुड़े लोगों का कहना है कि बिहार में हुए भागलपुर दंगों के समय मुख्यमंत्री रहे भागवत झा आजाद के पुत्र कीर्ति आजाद को धनबाद से लोकसभा प्रत्याशी बनाया जाना, राज्य के मुस्लिमों को कतई स्वीकार नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः चुनाव आयोग की सरकार को नसीहतः एजेंसियों का हो निष्पक्ष इस्तेमाल

भागलपुर दंगों से जोड़ विरोध शुरू

शहर के एक होटल में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर धनबाद अल्पसंख्यक समाज ने कहा कि लोकसभा चुनाव के वक्त कांग्रेस पार्टी ने मुसलमानों को ठगा है.

जिस भागलपुर दंगे के दौरान हजारों की संख्या में मुसलमान मारे गये थे, उस दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री भागवत झा आजाद चुपचाप नजारा देख रहे थे.

यहां तक की अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने की भी कोशिश में लगे थे. इनका कहना है कि जो आरोप इन पर है, ठीक वैसा ही आरोप 2002 के दंगों के दौरान नरेंद्र मोदी पर लगे थे.

आज उन्हीं के पुत्र कीर्ति आजाद को धनबाद से लोकसभा उम्मीदवार बनाने की बात सामने आ रही है. जिसका समाज के लोग पूरजोर तरीके से विरोध करते हैं.

इसे भी पढ़ेंः सरहुल को लेकर पुलिस-प्रशासन मुस्तैद, सुरक्षा व्यवस्था में लगाये गये 1000 से अधिक जवान

मुस्लिम विरोधी उम्मीदवार को टिकट देना स्वीकार नहीं

महागठबंधन के तहत किसी भी सीट पर मुस्लिम उम्मीदवार नहीं दिए जाने की बात करते हुए कहा कि सेकुलरिज्म को मजबूत करने के लिए ही राज्य के मुसलमान ने इसको स्वीकार किया है.

लेकिन अगर किसी ऐसे व्यक्ति को जिनका बचपन मुसलमान विरोधी नजरिया से गुजरा हो और जिन्होंने अपनी पूरी राजनीति हिंदू-मुसलमान को लड़ा कर की हो, ऐसे उम्मीदवार को मुस्लिम समाज कभी भी महागठबंधन का उम्मीदवार स्वीकार नहीं करेगा.

अगर ऐसा होता है तो मुस्लिम समाज इसका खुलकर विरोध करेगा. और जो भी मुसलमान उम्मीदवार यहां से खड़ा होगा, उसे ही वे वोट देंगे.

इसे भी पढ़ेंःबेरोजगारी और किसानों की समस्याएं महागठबंधन के मुख्य चुनावी मुद्दे :…

Related Articles

Back to top button