DhanbadJharkhand

धनबाद : कोचिंग संचालकों ने फल और सब्जी बेच कर किया सरकार की नीतियों का विरोध

Dhanbad: कोरोना महामारी में बंद पड़े कोचिंग सेंटरों के संचालकों ने मंगलवार को सिटी सेन्टर से रणधीर वर्मा चौक तक सब्जी व फल बेच कर सरकार की नीतियों का विरोध किया. इस दौरान संचालकों ने तख्तियों पर लिख रखा था- हमें सुशांत सिंह राजपूत बनने पर मजबूर न किया जाये.

साथ ही संचालकों ने यह भी कहा कि इस कोरोना महामारी के कारण हुए लॉक डाउन को लेकर आज कोचिंग संचालकों की ये हालात हो गयी है कि मजबूरन सब्जियां और फल बेचने पड़ रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – जल जीवन मिशन का हाल: अबतक 10 फीसदी लोगों को भी नहीं मिल सका है नल कनेक्शन

जिले के 5 हजार से ज्यादा शिक्षकों का पेट भरता है कोचिंग से

वहीं मीडिया से बात करते हुए कोचिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज सिंह ने कहा कि धनबाद जिले में करीब 1000 कोचिंग सेंटर है जिनसे 5000 से ज्यादा शिक्षकों के परिवार का भरण-पोषण होता है पर सरकार अपनी गलत नीतियों से इस व्यवसाय को पूरी तरह से ठप्प कर चुकी है.

उन्होंने कहा कि अनलॉक 1 में राज्य सरकार ने लगभग सभी व्यवसायों को खोल दिया है पर कोचिंग संचालकों को सरकार ने अनुमति नहीं दी है जिससे कोचिंग संचालकों के परिवार की स्थिति काफी गम्भीर होते जा रही है. इसलिए राज्य सरकार हम कोचिंग संचालकों पर भी ध्यान दे या खुले हुए व्यवसायों को भी कोरोना वायरस से बचने के लिए बन्द कर दे.

इसे भी पढ़ें – झारखंडः श्रावणी मेला पर हाईकोर्ट ने रखा फैसला सुरक्षित, 3 जुलाई को होगा निर्णय

Advertisement

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close