न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबादः भाजपा की सरकार में भाजपाइयों का बुरा हाल, सांसद, विधायक तक लाचार

227

Dhanbad: सरायढेला थाना की जमादार ममता कुमारी के पावर के सामने किसी की नहीं चल रही है. अपने बड़बोलेपन के लिए क्षेत्र में पहचान रखनेवाली ममता कुमारी बाइक चेकिंग कर रही थीं. उसके लपेटे में गुरुवार शाम को भाजपा मनयीटांड मंडल अध्यक्ष दिलीप सिंह का बेटा रवि आ गया. उसने खुद को भाजपा नेता का बेटा होने की रौब गांठ कर बाइक छुड़ाने का प्रयास किया. तब ममता ने रवि और उसके चचेरे भाई सूरज पर गोली मारने की धमकी देने सहित कई आरोप लगाकर थाने को सौंप दिया. खबर मिलने पर जिला भाजपाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह के साथ कई भाजपा नेता थाना पहुंचे. मामले में विधायक सहित कई नेताओं ने भी पैरवी की. बच्चों की गलती की बात कही, पर ममता अड़ गयीं. कहा, इनको बिना कार्रवाई के छोड़ा तो नौकरी छोड़ देंगी.

इसे भी पढ़ें – कौशल विकास प्रशिक्षणः 50 फीसदी से कम नौकरी देनेवाली एजेंसियों की बैंक गारंटी जब्त होगी

बताते हैं कि मामले को सलटाने के लिए डीआइजी कोयलांचल रेंज ने भी पहल की. हालांकि एसएसपी मनोज रतन चोथे ने पहल नहीं की है. इस छोटे से मामले में भाजपा के तमाम नेताओं की कोशिश के बाद भी करीब 48 घंटे बाद भी कोई हल नहीं निकलना पार्टी के नेताओं की बेचारगी का नमूना है.

इसे भी पढ़ें – रांची में देश के पहले बड़े अटल स्मृति वेंडर्स मार्केट का सीएम ने किया उद्घाटन

क्या कहा दिलीप सिंह ने

silk_park

मामले में पुलिस का पक्ष जानने के लिए सरायढेला के थानेदार निरंजन तिवारी को फोन किया गया पर उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया. भाजपा के जिलाध्यक्ष ने भी बार-बार फोन करने के बाद भी फोन रिसीव नहीं किया. सवाल है, अपनी लाचारी पर बोलें क्या? इधर, रवि के पिता भाजपा नेता दिलीप सिंह ने कहा-उनके बेटे ने ममता कुमारी से कहा, आंटी माफ कर दीजिए. गलती हुई है. हमने गोली मारने की बात नहीं कही है. इस पर भी मैडम कुछ सुनने को तैयार नहीं. बच्चों का जुल्म तो यही हो गया कि उसने भाजपा नेता का बेटा होने की बात कही.

इसे भी पढ़ें – पारा टीचर व पत्रकारों पर हमले के खिलाफ सीएम रघुवर दास का पुतला फूंका

पहले कब-कब हुई है फजीहत

  • भाजपा के रघुवर दास के नेतृत्ववाले शासन के आरंभ में ही भाजपा के धनबाद के विधायक राज सिन्हा की केंदुआडीह थाने में एक दरोगा ने फजीहत कर दी थी
  • धनबाद के सांसद पशुपतिनाथ सिंह ने अपनी लाचारी जतायी. उनकी बात अधिकारी नहीं सुनते हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रधान सचिव सुनील बर्णवाल उनका फोन रिसीव नहीं करते हैं
  • 23 अक्टूबर को धनसार थाना क्षेत्र के मनईटांड़ निवासी भाजपा नेता बलराम सिंह के बड़े भाई सत्येंद्र सिंह की बेरहमी से पीट कर हत्या हुई
  • 22 अक्टूबर को जमस नेता लक्की सिंह के समर्थकों ने सिंदरी नगर भाजपा अध्यक्ष विजय सिंह और जिला कार्यकारिणी सदस्य शैलेश सिंह की पिटाई कर दी. आक्रोशित समर्थकों ने सांसद पशुपतिनाथ सिंह के आवास का घेराव किया. सांसद के दबाव पर दो दिन बाद अपराधी को पकड़ा गया
  • 8 नवंबर को बाघमारा की भाजपा नेत्री ने भाजपा के ही अयोध्या ठाकुर पर शारीरिक शोषण का प्रयास, गाली-गलौज, जान से मारने की धमकी देते हुए मारपीट का आरोप लगाया था. इसकी 30 अक्तूबर को ऑनलाइन शिकायत दर्ज करायी. भाजपा के जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह पीड़िता के साथ ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर से मिले. इसके बाद भी अभियुक्त पीड़िता को लगातार धमकी दे रहा है
  • 14 नवंबर को छठ के दौरान करकेंद में छठ घाट पर मारपीट में भाजपा नेता के बेटा का सिर फूटा

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: