DhanbadJharkhandLead NewsNEWS

धनबाद : डीएवी पब्लिक स्कूल सिंदरी के मैदान की चारदीवारी निर्माण को लेकर बबाल

Dhanbad : डीएवी पब्लिक स्कूल सिंदरी के खेल के मैदान को लेकर हंगामा हो गया है. आज सोमवार को डीएवी स्कूल प्रबंधन ने मैदान की चाहरदीवारी घेराव को लेकर पुलिस प्रशासन की भीड़ इकट्ठा कर रखा है. अतिरिक्त पुलिस बल स्कूल प्रबंधन ने मंगा रखा है. झरिया सीओ, बलियापुर पुलिस बल के साथ प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट भी मौजूद हैं. वहीं इधर, स्थानीय आर एमकेफोर कॉलोनी के लोगों के साथ बच्चे, बुढ़े, आसपास बस्ती के लोग खेल मैदान को चाहरदीवारी से बचाने के लिए गोलबंद होकर मैदान में बैठने लगे हैं. प्रशासन की कार्रवाई का विरोध करेंगे.

बता दें कि यह खेल मैदान पिछले 70 सालों से स्थानीय युवाओं एवं बच्चों का खेल मैदान रहा है. कॉलोनी के बीच यही एक खेल मैदान है. यहां स्थानीय महिला पुरूष जहां मॉर्निंग वॉक करते हैं, वहीं बच्चे और युवा क्रिकेट, फुटबॉल, जैसे खेल खेलते हैं. डीएवी स्कूल यदि खेल मैदान घेराबंदी कर लेता है तो स्थानीय बच्चों का खेल मैदान नहीं बचता. स्थानीय लोगों ने लगातार विरोध किया है, बाबजूद पुलिस प्रशासन की मदद से स्कूल प्रबंधन खेल मैदान जबरन घेराबंदी करने पर आतुर है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

क्या है मामला

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

मालूम हो कि राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने डीएवी पब्लिक स्कूल सिंदरी के खेल के मैदान को चाहरदिवारी निर्माण को लेकर उपायुक्त धनबाद को पत्र लिखा है. आयोग ने उपायुक्त धनबाद से जांच करवाकर रिपोर्ट देने और 20 दिनों अंदर कार्रवाई कर सूचित करने को कहा है. आयोग के रजिस्ट्रार अनु चौधरी ने पत्र लिखा है.

निरसा के एक अभिभावक उमेश गोस्वामी ने डीएवी पब्लिक स्कूल सिंदरी के खेल के मैदान के चाहरदिवारी के निर्माण का मामला राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के समक्ष प्रस्तुत किया है. आयोग ने उमेश गोस्वामी के आवेदन पत्र के आलोक में उपायुक्त धनबाद को पत्र लिखा है.

डीएवी पब्लिक स्कूल सिंदरी के प्राचार्य आशुतोष कुमार ने इस संबंध में कहा कि एफसीआईएल प्रबंधन ने 33 वर्षों के लीज पर स्कूल भवन के साथ खेल का मैदान भी दिया है. इस संबंध में अंचल अधिकारी झरिया द्वारा स्थल निरीक्षण कर भूमि संबंधी दस्तावेज की जांच की गई. जांच के बाद एसडीओ धनबाद को मंतव्य के साथ रिपोर्ट दिया. एसडीओ धनबाद ने अंचल अधिकारी झरिया को चाहरदिवारी निर्माण तक विधि व्यवस्था सुनिश्चित करने का आदेश दिया है. वाबजूद चाहरदिवारी का निर्माण नहीं हो पा रहा है. भूमि भवन और खेल मैदान का मालिकाना हक एफसीआई सिंदरी प्रबंधन के पास है.

इसे भी पढ़ें: चतरा में कोयला चोरों पर पुलिसिया प्रहार, अवैध कोयला लदा ट्रक व स्विफ्ट कार के साथ चार तस्कर गिरफ्तार

 

Related Articles

Back to top button