DhanbadJharkhand

Dhanbad: डेको आउट सोर्सिंग के खिलाफ AICC मेंबर संतोष सिंह ने समर्थकों के साथ किया प्रदर्शन

Dhanbad: झरिया के राजापुर परियोजना में कार्य कर रहे डेको आउटसोर्सिंग के खिलाफ ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी (AICC) के मेंबर संतोष कुमार सिंह ने झरिया के विकास भवन के समक्ष 15 सूत्री मांगों को लेकर शनिवार को प्रदर्शन किया.

प्रदर्शन के दौरान उन्होंने कहा कि डेको आउटसोर्सिंग खान सुरक्षा महानिदेशालय (DGMS) के प्रावधानों का खुला उलंघन कर कोयले का उत्खनन कर रही है. ओबी डंपिंग और ब्लास्टिंग में भी DGMS के नियमों की खूब धज्जियां उड़ा रही है.

उन्होंने कहा कि आज राजापुर परियोजना में डेको द्वारा की जा रही ओबी डंपिंग झरिया वासियों के लिए मौत का पहाड़ बन गयी है. इसकी वजह यह है कि आउटसोर्सिंग परियोजना मे ओबी डंपिंग की हाइट निर्धारित मापदंड से कई गुना ज्यादा है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

यही नहीं, डेको आउटसोर्सिंग खान सुरक्षा महानिदेशालय के नियम के अनुसार ब्लास्टिंग का काम भी नहीं कर रही है जिससे कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना घट सकती है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इसे भी पढ़ें – झारखंड के भीतर चलेंगी बसें, कोरोना पॉजिटिव या सैंपल दिये व्यक्ति रिपोर्ट आने तक नहीं कर सकेंगे यात्रा, जानिये और क्या हैं नियम…

खामियाजा भुगत रहे झरिया वासी


उन्होंने कहा कि डेको द्वारा की जा रही मनमानी का खामियाजा आज झरिया वासियों को भुगतना पड़ रहा है. झरिया वासी आउटसोर्सिंग के कारण पूरी तरह प्रदूषण की चपेट में आ गये हैं जिससे झरिया की जनता कई भयानक बीमारियों से ग्रस्त है लेकिन डेको अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहा है.

यही नही आउट सोर्सिंग बीसीसीएल के अधिकारियों के लिए लूट का अड्डा बन गया है जिसके कारण बीसीसीएल के अधिकारी आउट सोर्सिंग के द्वारा की जा रही मनमानी पर ध्यान नही देते हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि आज डेको पश्चिम बंगाल से डीजल की खरीदारी कर झारखंड़ सरकार को 20% का चूना लगा रही है. लेकिन ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी डेको द्वारा की जा रही इस मनमानी को नही चलने देगी.

इसे लेकर शनिवार को झरिया के विकास भवन के समक्ष प्रदर्शन कर डेको आउट सोर्सिंग को ब्लैक लिस्ट करने की मांग की गयी. अगर बीसीसीएल प्रबंधक ने जल्द से जल्द डेको पर कार्यवाई नहीं की तो इससे भी बड़ा उग्र आंदोलन होगा क्योकि ऑल इंडिया कंग्रेस कमिटी माफिया राज नहीं चलने देगी.

इसे भी पढ़ें – झारखंड के 6 निजी अस्पताल ही कर सकेंगे रैपिड एंटीजन टेस्ट, स्वास्थ्य मिशन ने हॉस्पिटल्स को दिया निर्देश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button