Dhanbad

Dhanbad: अनाज की कालाबाजारी पर प्रशासन का शिकंजा, छापेमारी में सैकड़ों क्विंटल सरकारी चावल जब्त

पुलिस को देख फरार हुए मजदूर औऱ ट्रक का ड्राइवर

Dhanbad:  इस कोरोना महामारी में कोई गरीब भूखा ना सोये इसके लिए सरकार गरीबों को हर महीने पीडीएस दुकानों से कार्डधारियों को दो गुना चावल दे रही है. यही नहीं चावल के साथ-साथ सरकार कार्डधारियों को दाल और चने भी दे रही है. लेकिन गरीबों के इस निवाले पर अनाजों की काला बाजारी करने वालों की नजर है. और ब्लैक मार्केटिंग का ये धंधा इस कदर हावी है कि प्रतिदिन हजारों क्विंटल पीडीएस चावल की कालाबाजारी कर बिरसा पुल होते हुए बंगाल भेज दिया जाता है.

Jharkhand Rai

धनबाद जिले से सरकारी चावल को अनाज माफिया 10 रुपये किलो पीडीएस दुकानों से खरीद कर बंगाल में उसी चावल को 20 से 22 रुपये प्रति किलो बेच देते हैं.

इसे भी पढ़ेंः अक्तूबर के बाद वापस लौटेंगे लेह लद्दाख गए 1660 मजदूर, श्रम विभाग कर रहा तैयारी

देर रात प्रशासन की दबिश

कई बार प्रशासन की ओर से इस कालाबाजारी को रोकने के लिए कार्रवाई की गयी है. इसी क्रम में शुक्रवार की रात गुप्त सूचना के आधार पर प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी सुबोध सिंह और स्थानीय पुलिस ने धनबाद के बलियापुर पतला बाड़ी रोड स्थित एक गोदाम में छापेमारी की गई. इस दौरान सैकड़ों क्विंटल पीडीएस का चावल जब्त किया गया . जिसे अवैध तरीके से एक ट्रक (JH- 02AG – 2266) पर लोड कर किसी दूसरे जगह भेजने की तैयारी की जा रही थी. वही छापेमारी के दौरान ट्रक ड्राइवर और चावल लोड कर रहे मजदूर पुलिस को देखकर फरार हो गए.

छापामारी में पुलिस ने एक ट्रक और सैकड़ो क्विंटल चावल जब्त किया है, और आगे की कार्रवाई में जुट गई है. प्रशासन की इस दबिश को लेकर प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी सुबोध सिंह ने बताया कि कलियासूल प्रखंड विकास पदाधिकारी के आदेश पर ये छापेमारी की गई है, जिसमें वाहन सहित सैकड़ों क्विंटल चावल भी जब्त किया गया है और आगे की कानून सम्मत कार्रवाई की जा रही है.

बता दें कि धनबाद में सरकारी चावल की काला बाजारी इस कदर बढ़ गई है कि बेधड़क सुबह से रात तक बाइक, साइकिल और 407 जैसे वाहनों से सरकारी चावल की अवैध ढुलाई होती है. इस कालाबाजारी में संलिप्त ना तो पीडीएस दुकानदारों को जिला प्रशासन का खौफ है और ना ही सरकारी चावल की कालाबाजारी करने वालों को.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह: बेंगाबाद में जंगल में मिला अधेड़ का शव, पीटकर हत्या की आंशका

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: