DhanbadJharkhand

धनबादः नहीं थम रहा रफ्तार का कहर, 7 दिनों में 5 मौतें

Dhanbad: धनबाद में रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. आए दिन सड़क हादसे देखने को मिल रहे हैं. जिसमें मौतों का सिलसिला जारी है. ताज़ा मामला धनबाद के यढेला थाना क्षेत्र के गोल बिल्डिंग मोड़ के पास का है. जहां बाइक सवार को बस ने अपनी चपेट में ले लिया जिससे बाइक सवार का मौके पर ही एक युवक की मौत हो गई. वही रविवार रात ट्रक और बस में टक्कर हो गई.

इसे भी पढ़ें-केंद्र ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का नाम बदलकर कर दिया आयुष्मान भारत

बाइक सवार की मौत

बताया जा रहा कि शनिवार देर रात गोविंदपुर में ट्रक और बाइक की सीधी टक्कर होने से बाइक सवार ली जान चली गयी. जिनको लेकर स्थानीये लोगों में रोष देखा जा रहा है. बताया जा रहा है कि आये दिन इस तरह की घटना देखने को मिल रही है. लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है. जिसके कारण आये दिन हादसों में लोगों की जान चली जा रही है.

जल्दबाज़ी के कारण होते है हादसे

सड़क दुर्घटना में हुए युवक की मौत का कारण जल्दबाज़ी मन जा रहा है. इस तरह की घटना के बावजूद लोग इससे सबक नहीं ले रहे हैं. और जल्दबाजी के कारण अपनी जान से हाथ धो बैठते है. वहीं रविवार को फिर तेज रफ्तार के कारण ट्रक और कार की जोरदार टक्कर हो गई. जहां एक ट्रक ने एक कार सवार को अपनी चपेट में ले लिया.
हालांकि, राहत की बात ये रही दुर्घटना में कोई हताहत नहीं हुआ. वहीं घटना के बाद ट्रक चालक फरार हो गया है. बाकी लोग सुरक्षित है.

इसे भी पढ़ें : PMAY: कैसे घर बनाएं हुजूर, जमादार मांग रहा 40 हजार

पिछले दिनों भी हुई थी 3 मौतें

गौरतलब है कि पिछले दिनों धनबाद के दी आर एम चौक पर तेज़ रफ़्तार हाइवा ओर कार की जोरदार टक्कर में तीन मौतें एक साथ हो गयी. ज्ञात हो कि तीन दिन पहले भी हाइवा की चपेट में आने से डॉक्टर सहित 3 लोगो की जान सड़क हादसे में हो गयी थी. जिसमें की गोविन्दपुर के डॉक्टर उन्हीं बेटी और ड्राइवर की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी थी. टक्कर इतनी भयानक थी कि कार चालक के परखच्चे उड़ गए थे.

इसे भी पढ़ें :सादरी बोल कर झारखंडियों को पीएम ने की लुभाने की कोशिश

उल्लेखनीय है कि जिले के गोविंदपुर थाना क्षेत्र के एनएच 2 पर बाजार से लेकर सुभाष चौक तक सुबह से लेकर शाम तक जाम की समस्या बनी रहती है. पिछले 6 महीने से इस इलाके में लोगों को जाम की सम्सया और दुर्घटनाओं का शिकार होना पड़ रहा है. लेकिन इन समस्या से कब निजात मिलेगी यह बता पाना मुश्किल है. जाम की वजह से कई एंबुलेंस भी घंटों फंस जाती हैं. लेकिन उसे देखने वाला कोई नहीं होता.

Related Articles

Back to top button