न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद : 40 से 50 नयी खदानें खुलेंगी : गोपाल सिंह

70

Dhanbad : बीसीसीएल के प्रभारी सीएमडी गोपाल सिंह ने बताया कि धनबाद कोयलांचल के गर्भ में इतना कोयला है कि पूरे विश्व को सप्लाई कर सकता है. इसे निकालने को लेकर कोल मंत्रालय ने पहल शुरू कर दी है. आने वाले समय में 40 से 50 खदान और खुलेंगे, जिससे कोयला निकाला जा सके. बीसीसीएल मुख्यालय कोयला भवन में पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि कोयले की कमी कोयलांचल में नहीं है. कहा कि विस्थापन का मामला बहुत जल्द ही दूर हो जाएगा. उपायुक्त इस मामले में काफी तेजी के साथ काम कर रहे हैं. साथ ही कहा कि जितने भी विस्थापन हैं अगर जिसकी 2 एकड़ जमीन बीसीसीएल ली है, उसे नौकरी और मुआवजा दे रही है. जो लोग अवैध कब्जा में रह रहे हैं, उनका भी विस्थापन किया जाएगा.

ओलंपिक के लिए बच्चों का किया जायेगा चयन

मिशन ओलंपिक 2024 को लेकर झारखंड स्टेट स्पोर्ट्स प्रमोशन सोसाइटी सीसीएल और राज्य सरकार प्रतिभावन बच्चों का चयन करेगा. राज्य भर में 55 हजार स्कूल के माध्यम से 5 लाख 50 हजार बच्चों का आवेदन शहर से लेकर गांव तक के बच्चों से लेने का लक्ष्य रखा गया है. इनमें से 25 हज़ार बच्चों का चयन किया जाएगा. फिर अगले चरण में इसी में से 3 हज़ार  बच्चों को निकालकर 250  बच्चों का चयन कर ओलंपिक में हिस्सा लेने के लिए उसकी ट्रेनिंग, खाने, रहने और पढ़ाई की पूरी व्यवस्था सीसीएल और सरकार उठाएगा. उन्होंने बताया कि 8 से लेकर 12 वर्ष के बच्चों का चयन किया जाएगा. चयनित बच्चों को 500  स्कॉलरशिप भी दी जाएगी. बच्चों का चयन दौड़ के माध्यम से किया जाएगा.

प्रत्येक स्कूल में 10 फॉर्म दिए जाएंगे. सभी बच्चों की स्कूल के ग्राउंड में ही दौड़ करा कर प्रथम स्थान पाने वाले का चयन किया जाएगा. बच्चों की चयन प्रक्रिया के दौरान वीडियोग्राफी भी जाएगी. चयन प्रक्रिया में किसी प्रकार की सिफारिश नहीं चलेगी. प्रतिभावान बच्चे अपने दम पर यह मुकाम हासिल करेंगे. चयन प्रक्रिया पहले प्रत्येक ब्लॉक लेवल और दूसरे चरण में 7 और 8 फरवरी को आइएसएम लोअर ग्राउंड में की जाएगी. उन्होंने कहा कि  हमारे यहां से ट्रेनिंग कर रहे बच्चों ने स्टेट लेवल पर 208 मेडल और नेशनल में 28 मेडल जीता है इतना ही नहीं पढ़ाई में भी सभी अच्छी प्रतिशत अंक लाकर क्लास 7 और 8 में टॉप किए हैं.

पिछले साल धनबाद से 8 प्रतिभावान बच्चों का हुआ था चयन

सीएमडी सिंह ने कहा कि 2017 में एक लाख 89 हजार आवेदन आया था, इनमें से 344 बच्चों का चयन किया गया था. सबसे अधिक रांची के 111 और धनबाद के 8 बच्चे शामिल थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: