DhanbadJharkhand

#Dhanbad: जालसाज ने महिलाओं को झांसा देकर हड़पे लोन के 22 लाख रुपये, अब परेशान कर रही फाइनेंस कंपनी

Dhanbad : ग्रामीण महिलाओं को झांसे में लेकर जालसाज ने लोन की राशि करीब 22 लाख रुपये हड़प लिये हैं. अब फाइनेंस कंपनी लोन की किस्त वसूलने के लिए उन महिलाओ के घर तक पहुंच रही है.

इतना ही नहीं, इन महिलाओं को उस राशि का ब्याज देने के लिए विवश होना पड़ रहा है जो राशि उन तक पहुंची भी नहीं है. मामला बरवाअड्डा थाना क्षेत्र का है.

पीड़ित महिलाओं ने बुधवार को एसएसपी से मिलकर मामले की शिकायत की और जालसाज को पकड़ कर राशि की रिकवरी करने की गुहार लगायी.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें : कभी एस्कॉर्ट लेकर चलने वाले ढुल्लू महतो गुपचुप तरीके से हुए फरार, बैरंग लौटी पुलिस

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

लोन दिलाने का सब्जबाग दिखाकर करवा लिये हस्ताक्षर

बताया जा रहा है कि बरवाअड्डा निवासी लोकनाथ साव ने गांव की औरतों को फाइनेंस कंपनी से लोन दिलाने का सब्जबाग दिखाकर उनसे कई कागजात पर हस्ताक्षर करवा लिये.

उन सभी का बैंक अकॉउंट भी खुलवा दिया. प्रति महिला किसी को 50 तो किसी को 70 हजार रुपये तक का लोन भी दिलवा दिया. लोन की राशि उन महिलाओं के खातों में जमा भी हो गयी.

अब वह राशि महिलाएं अपने खाते से निकालती इससे पहले ही लोकनाथ ने लोन की अत्यधिक किस्त चुकता करने का डर दिखाकर महिलाओं को लोन की राशि फाइनेंस कंपनी को वापस कर देने के लिए मना लिया.

इसे भी पढ़ें : झारखंड कंबाइंड ने बदला बीएड एंट्रेंस एप्लीकेशन डेट, अब 25 फरवरी से करें ऑनलाइन आवेदन

पंचायत बैठी लेकिन नहीं निकला समस्या का समाधान

लोकनाथ ने लोन की कुल राशि करीब 22 लाख रुपये फाइनेंस कंपनी में जमा कराने के बजाय अपने खाते में जमा करा लिया और इसके बाद से वह फरार है.

अब कंपनी किस्त की राशि का भुगतान करने हेतु लगातार पीड़ितों के घर पहुंच रही है. कंपनी के लोग जब किस्त की राशि की वसूली के लिए महिलाओं के घर पहुंचे तब उन्हें मामले की जानकारी हुई कि लोकनाथ ने उनके साथ जालसाजी की है.

जालसाज लोकनाथ भी उसी गांव का है परंतु वह इसके बाद से फरार है. गांव में पंचायत बैठाकर लोकनाथ के पिता पर राशि वापस करने एवं लोकनाथ को पंचायत में हाजिर करने का भी दवाब बनाया गया.

पंचायत में लोकनाथ के पिता ने 17 फरवरी को लोकनाथ को पैसे के साथ पंचायत में हाजिर करने का भरोसा दिया था पर वह मुकर गया. ऐसे में महिलाएं अब पुलिस प्रशासन से मदद की गुहार लगा रही है.

इसे भी पढ़ें : #SAIL नहीं अब Coal India करेगा बोकारो पर्वतपुर कोल ब्लॉक का संचालन, PMO ने साफ किया रास्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button