Crime NewsGumlaJharkhand

भाई-बहन की हत्या मामले में डीजीपी ने लिया एक्शन, लोहरदगा एसपी से कहा- सदर थानेदार को सस्पेंड करें

  • 25 अक्टूबर को भाई-बहन का कर लिया गया था अपहरण, अगले दिन मिली थी लाशें
  • परिजन बोले- बच्चे जिस दिन गायब हुए, उसी दिन थाना में की थी लिखित शिकायत
  • थानेदार ने नहीं दिखायी तत्परता और बच्चों की हो गयी हत्या

Gumla : डीजीपी एमवी राव शनिवार को गुमला पहुंचे. घाघरा थाना क्षेत्र के कोटामाटी नदी के पास 25 अक्टूबर की रात भाई-बहन हत्याकांड मामले में लापरवाही बरते जाने पर उन्होंने लोहरदगा के सदर थाना प्रभारी केश्वर साहू को सस्पेंड कर दिया. उन्होंने लोहरदगा एसपी को फोन कर सदर थाना प्रभारी को सस्पेंड किये जाने का निर्देश दिया.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ेंः MSP नीति खत्म कर केंद्र ने दिया अपनी विकृत मानसिकता का परिचय: संजय पांडे

अपहरण के बाद हुई थी हत्या

जानकारी के मुताबिक, 25 अक्टूबर की रात करीब सात बजे दोनों सगे भाई-बहन अपने पैतृक गांव कोटामाटी से लोहरदगा लौट रहे थे. रास्ते से दोनों का अपहरण कर लिया गया था. घंटों बीतने के बाद भी जब दोनों लोहरदगा नहीं पहुंचे, तो उनके घरवालों ने कोटामाटी के परिजनों से संपर्क किया. गांव के लोगों ने बताया कि घंटों पहले वे दोनों निकल चुके हैं. इसके बाद परिजन किसी अनहोनी के अंदेशे को लेकर रात में ही उनकी खोजबीन में जुट गये थे. लोहरदगा सदर थाना में गुमशुदगी की लिखित शिकायत की थी. पर, थाना ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की. दूसरे दिन सुबह परिजनों को दोनों भाई-बहन के शव चुंदरी नवाटोली में मिलने की खबर मिली. मृतकों के चाचा बाल किशुन भगत ने इस मामले में पुलिस की लापरवाही का आरोप लगाया.

इसे भी पढ़ेंः दीपक प्रकाश के खिलाफ दुमका नगर थाने में यूपीए ने दर्ज करायी FIR, कहा- खरीद फरोख्त में लगी है भाजपा

Samford

पुलिस तत्परता दिखाती, तो बच सकती थी बच्चों की जान

मृतकों के परिजनों ने आरोप लगाया कि अगर लोहरदगा और घाघरा की पुलिस तत्परता दिखाती, तो दोनों की जान बच सकती थी. बच्चों के घर नहीं पहुंचने पर उन्होंने सबसे पहले इसकी सूचना देने के लिए घाघरा थाना के विभागीय नंबर पर कई बार संपर्क किया था, लेकिन यह नंबर बंद बताता रहा. इसके बाद परिजनों ने लोहरदगा सदर थाना पहुंचकर इसकी लिखित शिकायत की थी, लेकिन लोहरदगा सदर थाना की पुलिस ने घाघरा थाना से संपर्क भी नहीं किया.

इसे भी पढ़ेंः पलामू: अंधविश्वास में हुई थी दिव्यांग कृष्णा की हत्या- तीनों आरोपी गिरफ्तार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: