न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पलामू: नक्सलियों के रेड कॉरिडोर पथरा में डीजीपी ने बितायी रात

झारखंड-बिहार के नामी नक्सलियों के सफाये की रणनीति बनी

2,190

Palamu:  नक्सलियों के लिए रेड कॉरिडोर माने जाने वाले पलामू जिले के हरिहरगंज प्रखंड अंतर्गत पथरा में दो डीजीपी डीके पांडेय दो दिन रुके. इस दौरान डीजीपी द्वारा यहां रात्रि विश्राम भी किया गया. उनके साथ एडीजी ऑपेरशन मुरारी लाल मीणा, सीआरपीएफ डीआईजी जयन्त पॉल, पलामू डीआईजी विपुल शुक्ला, एसपी इन्द्रजीत माहथा, सीआरपीएफ 134 बटालियन के कमांडेंट एडी शर्मा भी थे. इस दौरान डीजीपी ने जहां ग्रामीणों के साथ संवाद स्थापित किया, वहीं बिहार के देव थाना क्षेत्र अंतर्गत और चतरा जिले में हाल के दिनों बढ़ी नक्सल गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए वृहद रणनीति तैयार की.

eidbanner

25 लाख के इनामी संदीप यादव की गिरफ्तारी के लिए दिया टास्क 

नक्सल गतिविधियों की समीक्षा करते हुए डीजीपी ने 25 लाख के इनामी संदीप यादव की गिरफ्तारी के लिए विशेष रूप से टास्क दिया. इसके अलावा अरविंद मुखिया को टारगेट करने के निर्देश दिया. डीजीपी ने संदीप यादव के दस्ते में शामिल नक्सली के बारे में अधिकारियों से जानकारी भी ली. उनके खिलाफ एक्शन की रणनीति बनायी. इस साल लोकसभा चुनाव भी होने हैं. इसे देखते हुए अधिकारियों ने बिहार से लगे इस इलाके को पूरी तरह से सेनेटाइज करने के निर्देश भी दिये.

बिहार-झारखंड में है संदीप का आतंक

संदीप यादव बिहार-झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय है. वह माओवादियों की सेंट्रल कमिटी का सदस्य भी है. कुछ दिनों पहले तक वह माओवादियों के बिहार-झारखंड और उतरी छत्तीसगढ़ कमिटी का सदस्य था. संदीप यादव माओवादियों के मध्य जोन का टॉप कमांडर है और 100 से अधिक नक्सल मामले में पुलिस को उसकी तलाश है. खास बात है कि संदीप यादव के नेतृत्व में ही झारखंड-बिहार सीमा पर नक्सलियों के पांव जमे हुए हैं. यही वजह है कि पुलिस चाहती है कि जल्द से जल्द संदीप को गिरफ्तार किया जाये और इलाके से नक्सलियों का सफाया किया जाये.

डीजीबी हेलीकॉप्टर से पहुंचे पथरा

जानकारी के अनुसार, डीजीपी बीएसएफ के हेलीकॉप्टर से मंगलवार की शाम चार बजे पथरा पहुंचे थे. इसके बाद बुधवार को करीब 12 बजे वह बिहार सीमा से 500 मीटर की दूरी पर बने पुलिस पिकेट पहुंचे. यहां डीजीपी ने रात में आठ बजे से 11 बजे तक आला पुलिस अधिकारियों के साथ नक्सल अभियान की समीक्षा की. सुबह में 09 बजे से 11 बजे तक जवानों के साथ अभियान की जानकारी ली और जवानों को कई टिप्स दिए. सुबह जवानों के साथ वॉलीबॉल खेलने के साथ-साथ उन्हें सुरक्षा के कई टिप्स भी दिये.

Related Posts

गुमला : कार्तिक उरांव काॅलेज में बिना एडमिट कार्ड 42 छात्रों को दिला दी गयी परीक्षा, अब नहीं मिल रहा रिजल्ट

छात्र लगा रहे रांची यूनिवर्सिटी के चक्कर, प्रो वीसी ने कहा- वीसी के आने पर होगी कारवाई

ग्रामीणों की समस्याओं से हुए अवगत

नक्सलियों तक पहुंचने में अहम कड़ी निभाने वाले ग्रामीणों को डीजीपी ने विशेष तरजीह दी. दूसरे दिन भी पथरा पिकेट में लोगों को बुलाकर उनकी परेशानियां सुनी गयीं. लोगों का दिल जीतने की कोशिश की गयी, ताकि नक्सलियों की हर गतिविधि की जानकारी पुलिस तक विश्वास के साथ पहुंच सके. डीजीपी ने ग्रामीणों को जागरूक भी किया और कहा कि विकास के लिए जागरूकता जरूरी है. बिना जागरूक हुए विकास की किरण द्वार तक नहीं पहुंच सकती है. इसलिए हमें सरकार के द्वारा जो कोई भी योजनाएं चलाई जा रही है, उसकी पूरी जानकारी होनी चाहिए.

प्रशासन आपके द्वारा कार्यक्रम का आयोजन

छतरपुर एसडीओ भोगेन्द्र ठाकुर की अध्यक्षता में प्रशासन आपके द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया.  जिसमें बड़ी संख्या में आसपास के लोग पहुंचे. इस कार्यक्रम के जरूरतमंद लोगों ने विधवा पेंशन, आवास सहित अन्य मांगों से संबंधित आवेदन दिया. खड्गपुर पंचायत की मुखिया पुष्पा देवी ने हड़ियाही डैम के फाटक गिराने की मांग की. उन्होंने कहा कि इस डैम का फाटक गिरने से किसानों को काफी लाभ पहुंचेगा. बराज से पथरा पिकेट होते हुए बेला घाट तक धीमी गति से रोड निर्माण कार्य की जानकारी दी गयी. इस पर संबंधित संवेदक व कार्यपालक अभियंता देवशरण भगत को जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया. गिधि चिरैली में बिजली नहीं पहुंची है, इसकी शिकायत भी लोगो ने की.

इसे भी पढ़ेंः राज्य सरकार ने केंद्र को सौंपी रिपोर्ट, कहा- एक भी मौत नहीं हुई भूख से

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: