Crime NewsJharkhandLead NewsRanchi

रात में सुनसान जगहों पर जायेंगी लड़कियां तो सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस की नहीं: डीजीपी

• अभिभावक सतर्कता बरतें और जिम्मेदारी समझें
• दर्शनीय और पर्यटन स्थलों पर पुलिस गश्त बढ़ेगी
• सेक्सुअल हरासमेंट की शिकायतों के लिए जारी होगा व्हाट्सएप नंबर                                                                                                           

Jharkhand Rai

 Ranchi: झारखंड के डीजीपी एमवी राव ने कहा है कि राज्य में लड़कियों-महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाओं पर अंकुश लग सके, इसके लिए यह जरूरी है कि अभिभावक और घरवाले सतर्कता बरतें और यह देखें कि वे रात के अंधेरे में अकेले सुनसान या एकांत वाली जगहों पर न जायें. उन्होंने कहा कि रात में अगर कोई लड़की या महिला अकेले किसी सुनसान स्थान पर जाती है तो उनके साथ होनेवाली किसी अनहोनी घटना की जिम्मेदारी पुलिस की नहीं हो सकती. ऐसे मामलों में सबसे पहले अभिभावकों और घरवालों को जिम्मेदारी लेनी होगी. डीजीपी मंगलवार को पुलिस मुख्यालय में मीडिया से बात कर रहे थे.

इसे भी पढ़ेःपीएम मोदी ने कहा- लॉकडाउन गया है, कोरोना वायरस नहीं, ये हैं संबोधन की खास बातें

उन्होंने कहा कि पुलिस हर वक्त सुरक्षा के लिए खड़ी है, लेकिन अंधेरे में अगर कोई पार्क, डैम या पर्यटन स्थल बंद होने के बाद भी वहां या किसी सुनसान जगह पर जाता है तो उसकी जिम्मेवारी पुलिस की नहीं है। उन्होंने उदाहरण के तौर पर कहा, रांची के चर्च कॉम्प्लेक्स के पास किसी बेटी की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है, लेकिन रात के 11 बजे कोई रुक्का डैम के पीछे जाती है उसके सुरक्षा की जिम्मेदारी उनकी और उनके परिवार की होगी.

Samford

डीजीपी ने अभिभावकों को सलाह दी कि वे नाबालिग लड़कियों को अकेला ना छोड़े, साथ ही उन्हें एहतियाती तौर पर जागरूक करें ताकि ऐसे घटनाओं को रोका जा सके.

सेक्सुअल हरासमेंट की शिकायतों के लिए जारी होगा व्हाट्सएप नंबर

डीजीपी ने बताया कि झारखंड के सभी जिले के एसपी कल शाम तक एक स्पेशल व्हाट्सएप नम्बर जारी करेंगे, जिसमें कहीं भी किसी माइनर गर्ल्स, किसी महिला को कहीं भी सेक्सुअल हरासमेंट फेस करना पड़ रहा है, तो वे मैसेज कर सकती हैं. गोपनीय ढंग से जांच और उचित कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ेःज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन पर ध्यान दे रही है सरकारः हेमंत सोरेन

डैम और दर्शनीय स्थलों पर होगी पुलिस की पेट्रोलिंग

शाम ढलते ही अब शहर के सुनसान इलाकों में पुलिस पेट्रिलिंग का दायरा बढ़ाएगी. हटिया डैम, कांके डैम, रॉक गार्डेन और पतरातू घाटी में दिन और रात में भी खास निगरानी रखी जाएगी.

बिहार चुनाव को लेकर सीमा पर विशेष चौकसी

डीजीपी ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर बिहार-झारखंड की सीमा पर विशेष चैकसी बरती जा रही है. पुलिस ने अभी तक भारी मात्रा में शराब भी जब्त की है. इन जगहों पर लगातार गश्ती बढ़ा दी गई है. इस बात पर नजर रखी जा रही है कि झारखंड से कोई भी ऐसी खेप बिहार ना जा सके जिससे चुनाव प्रभावित हो.

इसे भी पढ़ेःतीन नवंबर को दुमका उपचुनाव में ‘बड़ा कांड’ करने की फिराक में नक्सली, भारी मात्रा में हथियार-विस्फोटक हुए बरामद

त्योहार का समय पुलिस के लिए चैलेंजिंग

डीजीपी ने कहा कि त्योहार का समय पुलिस के लिए चैलेंजिंग है. दिसम्बर तक बहुत सारे त्योहार हैं, व्यवसाय के लिए भी ये समय महत्वपूर्ण है, पैसों का लेन-देन बढ़ेगा, ऐसे में पुलिस के लिए अपराध चैलेंजिंग होता है. अपराध नियंत्रण को लेकर सभी जिले के एसपी को निर्देश दिये गये हैं.

उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में मानवता को शर्मसार करने वाली घटनाएं घटी हैं, नाबालिग के साथ बलात्कार और उनकी हत्या की जो घटनाएं हुई हैं, उनमें से 95% कांड में अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो चुकी है. उनके खिलाफ स्पीड ट्रायल चलेगा और हर हाल में कनविक्शन होगा. ऐसे अधिकांश मामलों में अपराधी भुक्तभोगी के परिचित हैं. हम लोग इस बात को लेकर परेशान हैं कि इस तरह की घटना पर कैसे काबू पा सकें. ऐसे मामले में हमारी भूमिका घटना शुरु होने के बाद शुरु होती है. इसको रोकने के हर पहलू पर हमने होमवर्क किया, पर कोई स्टैंडर्ड प्रैक्टिस या बातें सामने नहीं आयी.

पुलिस कुछ दिनों से गोड्डा में स्पेशल ड्राइव चला कर 8 वी क्लास से ऊपर के बच्चों को, कुछ एक्सपर्ट पुलिस टिप्स देगें, कैसे सुरक्षा करना है हम पढायेगें, कैम्प लगाकर परिवार के लोग अभिभावक को भी समझाएंगे.

इसे भी पढ़ेःलालू ने जमानत मांगी, अगर मंजूर हुई तो निकल जायेंगे जेल से बाहर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: