न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड हाईकोर्ट में सशरीर हाजिर हुए डीजीपी, कोर्ट ने लगाई फटकार

1,314

Ranchi: झारखंड हाईकोर्ट ने अपहरण के एक मामले में पुलिस की ओर से लापरवाही बरतने के मामले को लेकर कोर्ट ने डीजीपी डीके पांडे को 3 सितंबर को कोर्ट में सशरीर उपस्थित होने का निर्देश दिया था. लापरवाही बरतने के मामले में झारखंड सरकार के डीजीपी डीके पांडे बुधवार को हाईकोर्ट में हाजिर हुए. जहां न्यायाधीश आनंद सेन की कोर्ट ने पुलिस द्वारा जांच में लापरवाही बरतने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड का कैडर मैनेजमेंट चरमराया, फंसी लाखों नियुक्तियां, 25 हजार कर्मियों का प्रमोशन पेंडिंग

कोर्ट ने जांच में सुधार लाने का दिया निर्देश

न्यायाधीश आनंद सेन की कोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए डीजीपी को कई निर्देश दिए. कोर्ट ने डीजीपी से जांच में सुधार लाने के लिए कहा. साथ ही डीजीपी से कहा कि इस तरह के पदाधिकारी जांच में क्यों देते हैं, जो जांच में अक्षम हैं. इस पर डीजीपी ने कोर्ट से कहा कि अब इस तरह की लापरवाही नहीं होगी. इसके लिए उन्होंने राज्य के सभी जिले में कई आदेश दिए हैं.

3 सितंबर को सशरीर उपस्थित होने का दिया था आदेश

झारखंड हाईकोर्ट ने अपहरण के एक मामले में पुलिस की ओर से लापरवाही बरतने को लेकर नाराजगी जाहिर की थी. कोर्ट ने आदेश देते हुए कहा था कि तीन सितंबर को डीजीपी खुद न्यायाधीश आनंद सेन की कोर्ट में हाजिर होकर जवाब दें कि कोर्ट के आदेश के बावजूद भी पुलिस की कार्यप्रणाली में बदलाव आखिर क्यों नहीं आ रहा है.

इसे भी पढ़ें – मीटर खरीद मामले में जेबीवीएनएल जिद पर अड़ा, मनमाने ढंग से टेंडर के बाद सीएमडी की चिट्ठी की भी परवाह…

क्या था मामला

बता दें कि हज़ारीबाग से जनवरी 2013 में नाबालिग विकास कुमार का अपहरण हुआ था. अपहृत विकास कुमार को बाद में पुलिस ने बरामद कर लिया था. पुलिस द्वारा बरामदगी के बाद मामले में 11 लोगों को आरोपी बनाया गया था. आरोपियों में से एक लक्ष्मण कुमार ने हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की है. इस याचिका की सुनवाई के दौरान पुलिस पदाधिकारियों की लापरवाही कोर्ट के सामने आई थी. कोर्ट ने चार्जशीट में अपहृत का नाम, गवाह के रूप में नहीं दिखाने पर कड़ी नाराजगी जताई है. इसको लेकर कोर्ट ने डीजीपी को हाजिर होने का आदेश दिया था.

इसे भी पढ़ें – पलामू : चैनपुर में दो पक्षों में विवाद, बमबाजी, पुलिस तैनात

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: