JharkhandRanchi

ट्रैफिकिंग की शिकार बच्ची की घर वापसी की पहल करें डीजीपी और गुमला डीसी : सीएम

विज्ञापन

♦गुमला की 16 वर्षीय नाबालिग को दिल्ली के हरिनगर से कराया गया है रेस्क्यू

♦हेमंत सोरेन ने कहा- मानव तस्करी से निपटने के लिए सामूहिक प्रयासों की है आवश्यकता

advt

Ranchi :  राज्य में आये दिन मानव तस्करी की घटनाएं सामने आती रहती हैं. इसे देख मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि मानव तस्करी से निपटने के लिए एक सामूहिक प्रयासों की आवश्यकता है. सीएम का यह निर्देश दिल्ली के हरिनगर से बरामद ट्रैफिकिंग की शिकार एक नाबालिग को लेकर है. उसकी उम्र 16 वर्ष है. नाबालिग की सकुशल वापसी के लिए मुख्यमंत्री ने राज्य के डीजीपी और गुमला डीसी को निर्देश दिया है.

इसे भी पढ़ें – Corona Update : हजारीबाग में 15 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये, राज्य का आंकड़ा पहुंचा 4261

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने भी निभायी भूमिका

उसे रेस्क्यू कराने में दिल्ली महिला आय़ोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने भी काफी सक्रिय भूमिका निभायी. मुख्यमंत्री ने इसके लिए स्वाति मालिवाल को धन्यवाद दिया है. बता दें कि सीएम सोरेन को यह जानकारी मिली थी कि गुमला निवासी इस 16 वर्षीय बच्ची को बीते मंगलवार को देर रात दिल्ली स्थित हरिनगर से रेस्क्यू करवाया गया था. बच्ची से जबरन काम लिया जाता था. बच्ची की स्थिति की जानकारी जैसे ही मिली, सीएम ने राज्य के पुलिस अधिकारियों को यह निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें – जमशेदपुर में शादी रचा कर दुर्गापुर आये दूल्हा-दुल्हन समेत परिवार के एक दर्जन सदस्य हुए कोरोना पॉजिटिव

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close