Jamshedpur

जयंती पर याद किए गए देवेंद्र माझी, सरकार से की शहीद का दर्जा देने की मांग

स्कूल के पाठ्यक्रमों में शहीद के नाम को शामिल करने की हुई मांग

Jamshedpur : झारखंड आंदोलनकारी संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में बुधवार को निर्मल महतो गेस्ट हाउस में  शहीद देवेंद्र माझी की 74वीं जयंती मनाई गई. मोर्चा ने शहीद की जयंती को किसान आंदोलन को समर्पित किया. मुख्य अतिथि के रूप में झामुमो सरायकेला-खरसावां के अध्यक्ष शुभेंदु  महतो उपस्थित थे. उन्होंने कहा कि सरकार झारखंड आंदोलनकारियों को नियोजन, पेंशन व सम्मान देने के लिए कृतसंकल्प है. शहीदों के सपनों को साकार करना ही हमारा दायित्व है. कार्यक्रम में मोर्चा के प्रवक्ता पुष्कर महतो ने कहा कि टाटा लीज की नवीनीकरण का लाभ  खतियानधारियों व किसानों को मिलना चाहिए. विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित सावना मार्डी ने कहा कि सभी

इसे भी पढ़ें- फूड विक्रेता साफ-सफाई पर ध्यान दें, सिदगोड़ा में फूड वेंडर्स का दो दिवसीय प्रशिक्षण

आंदोलनकारी को एक साथ मिलकर राज्य को खुशहाल व बेहतर बनाने के प्रयास  करना चाहिए. जल, जंगल और जमीन के समर्थक होने के साथ  वे असाधारण  व उच्च विचार के व्यक्ति थे. उनकी जीवनी को स्कूल के पाठ्यक्रमों में शामिल किया जाना चाहिए. इसके अलावे  शहीद  झारखंड आंदोलकारियों को चिन्हित कर ई-गजट में नाम प्रकाशित कर शहीद का दर्जा देने की मांग.  जाए. इसके अलावे जाति आधारित गणना की मांग की गई.कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि जल जंगल जमीन के साथ किसानों को भी उचित हक दिलाना है. कार्यक्रम में विश्वजीत प्रामाणिक, शाहिद अहमद,  एमडी, शम्भू मुखी डुंगरी, नबी, सतुआ हेंब्रम, मंबोध महतो, हरदेव सिंह, रम महतो, रसराज महतो आदि उपस्थित थे.

 

 

 

 

 

 

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button