DeogharJharkhand

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रूप में हो देवघर की ख्याति : रघुवर दास

Deoghar : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने देवघर परिसदन में आयोजित बैद्यनाथ धाम बासुकीनाथ तीर्थ क्षेत्र विकास प्राधिकार की कार्यकारी परिषद (श्राईन बोर्ड) की बैठक में स्वच्छता और विनम्रता पर विशेष जोर देने की बात कही.

उन्होंने कहा कि देश दुनिया से जो भी यहां आये वह एक अच्छा संदेश लेकर जाये. देवघर की पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक धार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रूप में बने.

साथ ही उन्होंने श्राईन बोर्ड की बैठक प्रत्येक तीन माह पर करने की बात कही. मेले में साफ-सफाई रखने पर विशेष जोर देते हुए निर्देश दिया. मौके पर यह भी कहा कि हम सब यह महसूस करें कि हम बाबा की ओर से कांवरियों के सेवक हैं.

इसे भी पढ़ेंःकर्नाटक में जारी है सियासत का नाटक, बागी विधायकों के गोवा जाने का प्लान बदला

स्थानीय लोगों से हो नियमित संवाद

मुख्यमंत्री ने कहा कि देवघर और बासुकीनाथ धाम में प्रशासन स्थानीय लोगों के साथ नियमित बातचीत करें. पंडा समाज, चेंबर के लोग, राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि से नियमित वार्ता कर सुझाव लें. नवीनता के साथ पौराणिकता का भी महत्व है. नवीनता को अपनाएं पर पौराणिकता को भी बनाये रखें.

कांवरियों के साथ हो विनम्र व्यवहार

देवघर उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने बताया कि सिविल डिफेंस के 100 लोग मेला में रखे जायेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि सेवा भावना से सबको कार्य पर लगायें.

मुख्यमंत्री ने जोर दिया कि पुलिस बल के लोग जो ड्यूटी पर रहें. प्रशासन के लोग और भी कोई जो कर्तव्य पर रहें सभी कांवरियों के साथ अपना व्यवहार विनम्र रखें.

adv

इसे भी पढ़ेंःमालेगांव ब्लास्टः सांसद प्रज्ञा के नाम से रजिस्टर्ड बाइक को पंचनामा करनेवाले गवाह ने पहचाना

फायर सिक्योरिटी सिस्टम का रखें ध्यान

मुख्यमंत्री ने कहा कि फायर सिक्योरिटी सिस्टम मंदिर समेत पूरे मेला क्षेत्र में रहे. किसी भी तरह की आगजनी की घटना ना हो इसका आकलन कर इसे प्राथमिकता दें. पूरे शहर में वैकल्पिक व्यवस्था के साथ रोशनी रहे कहीं भी अंधेरा ना रहे.

अस्पताल और हेल्थ सेंटर में डॉक्टर रहें तथा एंबुलेंस प्रत्येक लोकेशन पर रहे. एनडीआरएफ की टीम और प्रशासन किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार रहे.

सभी थाना और ओपी संवेदनशील रहें. पार्किंग और यातायात में कोई समस्या न आये. देवघर और दुमका में कोई टोल टैक्स ना रहे, ताकि गाड़ियों के जाम न लगे.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: