Main SliderNational

चीन के लिए जासूसी करनेवाला पत्रकार गिरफ्तार, रक्षा विभाग से जुड़ी सूचनाएं देने का है आरोप

New Delhi : चीन के लिए जासूसी करने के आरोप में एक स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा को गिरफ्तार किया गया है. उसे दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पिछले दिनों गिरफ्तार किया था. राजीव शर्मा दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में रहते थे. उसके चीन के लिए जासूसी करने की सूचना मिलने के बाद पुलिस कुछ दिनों से उस पर निगरानी रख रही थी. आरोपी पत्रकार के घर की तलाशी में पुलिस ने लैपटॉप और रक्षा विभाग से जुड़े गोपनीय दस्तावेज बरामद किये हैं. पुलिस ने पत्रकार से पूछताछ के बाद एक चीनी महिला किंग शी और नेपाल के एक नागरिक शेर सिंह को भी गिरफ्तार किया है. तीनों से पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि भारत की संवेदनशील जानकारियों को देने के बदले में राजीव शर्मा मोटी रकम वसूलता था.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ें :IPL : चैन्नई का जीत के साथ आगाज, आज दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब की होगी भिड़ंत

दलाई लामा से लेकर रक्षा गतिविधियों की जानकारी देता था चीन को

अभी तक जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक राजीव शर्मा ने भारत में रह रहे तिब्बतियों, तिबिबती धर्मगुरू दलाई लामा और भारत के रक्षा विभागों से जुड़ी कई संवेदनशील जानकारियां अपने चीन के संपर्कों को मुहैया कराया. राजीव शर्मा के बारे में खुफिया एजेंसी से एक इनपुट मिला था. जिसके मुताबिक नई दिल्ली के पीतमपुरा के सेंट जेवियर अपार्टमेंट में रहने वाले राजीव शर्मा का विदेशी खुफिया अधिकारियों से संबंध बताया गया था. जानकारी के अनुसार स्वतंत्र पत्रकार खुफिया जानकारी के बदले में अवैध तरीके से अपने हैंडलर से धन प्राप्त कर रहे हैं.

आरोपी ने माना कि वह जानकारियां उपलब्ध कराता था

दिल्ली के स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव ने ने बताया कि पूछताछ के दौरान राजीव शर्मा ने माना है कि वह चीन को गुप्त और संवेदनशील उपलब्ध कराया करता था. उन्होंने बताया कि राजीव शर्मा अपने चीनी संपर्क जॉर्ज और माइकल से विभिन्न डिजिटल चैनलों के माध्यम से बातचीत करता था.  वह अपने चीनी आकाओं को जल्द ही गुप्त दस्तावेज भेजने वाला था.

Samford

इसे भी पढ़ें :आज राज्यसभा में रखा जायेगा कृषि विधेयक, क्या होगी केंद्र सरकार की रणनीति ?

 

ग्लोबल टाइम्स के लिए लेख लिखा, चीन की यात्रा भी की

राजीव शर्मा के बारे में जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक 2010-2014 के दौरान उसने चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स’ के लिए एक साप्ताहिक कॉलम भी लिखा था. इसके बाद चीन के एजेंटों ने राजीव शर्मा से संपर्क किया था. इसके बाद उसे चीनी मीडिया कंपनी के साथ साक्षात्कार के लिए कुनमिंग (चीन) भी आमंत्रित किया गया था.  यात्रा का खर्च चीनी एजेंटों के द्वारा ही उठाया गया था. राजीव शर्मा 2016 और 2018 के बीच भी माइकल और शोऊ के संपर्क में था. उसे डोकलाम सहित भूटान-सिक्किम-चीन त्रिकोणीय जंक्शन पर भारतीय तैनाती, भारत-म्यांमार सैन्य सहयोग का पैटर्न, भारत-चीन सीमा मुद्दा आदि मुद्दों पर जानकारी देने का काम सौंपा गया था.बताया जाता है कि राजीव शर्मा को प्रति लेख के एवज में 500 अमेरिकी डॉलर देने की पेशकश थी.

इसे भी पढ़ें :‘2021 मे तृणमूल सरकार बनी तो सभी को मिलेगा जिंदगी भर मुफ्त राशन’

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: