JharkhandNEWSRanchiTOP SLIDER

सीएम हेमंत, कार्मिक व मंत्रिमंडल की मनाही के बावजूद IAS अरुण सिंह गए अमेरिका, ब्यूरोक्रेसी में चर्चा

Ranchi: पिछले कुछ दिनों से राज्य के ब्यूरोक्रेट्स के बीच एक चर्चा बहुत ही आम है. दरअसल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के मना करने के बावजूद राज्य के विकास आयुक्त सह अपर मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अरुण कुमार सिंह सेमिनार में भाग लेने के लिए अमेरिका चले गए. अरुण सिंह मुख्य सचिव रैंक के अधिकारी हैं. सरकारी कामकाज के लिए उन्हें राज्य या देश से बाहर जाने के पहले सीएमओ से अनुमति लेनी होती है. लेकिन अनुमति नहीं मिलने के बावजूद स्वास्थ्य सचिव विदेश दौरे पर गये. खबर लिखे जाने तक वह अमेरिका में ही हैं. जबकि उनका दौरा रद्द करने के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कार्मिक और मंत्रिमंडल दोनों विभाग से अरुण कुमार सिंह को पत्र देकर अवगत कराया था. ऐसे में सीएम के आदेश की अवहेलना की खबर राज्य की शीर्ष ब्यूरोक्रेसी में फिलहाल चर्चा का केंद्र बिंदु बन गया है.

 

कोलंबिया में हो रहा है स्वास्थ्य संबंधी आयोजन

दरअसल एक से 6 अगस्त तक कांटेंजना कोलंबिया में वर्ल्डशिप-7 कार्यक्रम है. इसमें राज्य के स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव को भाग लेना था. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कार्यवाही शुरू की गई थी. जिसमें विभागीय मंत्री बन्ना गुप्ता और सचिव स्वास्थ्य अरुण कुमार सिंह की अमेरिका यात्रा जाने का प्रस्ताव था. पर बाद में मुख्यमंत्री सोरेन ने विधानसभा सत्र को देखते हुए विदेश यात्रा के प्रस्ताव को रद्द कर दिया था.

 

कैबिनेट ने भी सूचित किया फिर भी अरुण सिंह नहीं माने

कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग ने सीएम के आदेश (फाइल संख्या 4729 दिनांक 28 जुलाई 2022) से अरुण कुमार सिंह को उनके नहीं जाने की विधिवत सूचना भी दी. इसके बावजूद अरुण कुमार सिंह अमेरिका चले गए. दिलचस्प यह है कि कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग द्वारा विदेश यात्रा को रद्द करने की जानकारी दिए जाने के अलावा कैबिनेट डिपार्टमेंट द्वारा भी इसकी सूचना दी गई. फिर भी अरुण सिंह नहीं माने.

 

स्वास्थ्य मंत्री तो मान गए लेकिन सचिव नहीं

कोलंबिया में होने वाले स्वास्थ्य संबंधी आयोजन के लिए जब मंत्री बन्ना गुप्ता और सचिव का प्रस्ताव बना, तो जाने की अनुमति के लिए फाइल सीएम कार्यालय पहुंची. सीएम हेमंत सोरेन ने विस सत्र का हवाला देते हुए यह यात्रा रद्द कर दिया. हेमंत सोरेन की बात स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने तो मान ली, लेकिन स्वास्थ्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने उनकी बात या कार्मिक और मंत्रिमंडल के निर्देश को नहीं माना. ब्यूरोक्रेसी में यह चर्चा भी हो रही है कि क्या ऐसे आचरण के लिए सीएम कार्यालय की तरफ से स्वास्थ्य सचिव अरुण कुमार सिंह के खिलाफ कार्यवाही हो सकती है.

Related Articles

Back to top button