JharkhandRanchi

निर्देश के बावजूद लॉकडाउन में दिव्यांगजनों की सहायता करने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं को नहीं दिया जा रहा है पास

Ranchi :  कोरोना लॉकडाउन के मद्देनजर केंद्र सरकार की ओर से कई दिशा निर्देश राज्यों को जारी किये गये. हालांकि लॉकडाउन का तो सख्ती से पालन किया जा रहा है. लेकिन कुछ ऐसे मुद्दे हैं जिसमें दिशा निर्देशों का सही से पालन नहीं किया जा रहा. दिव्यांगजन मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से परेशानी और समाधान के संबध में दिशा निर्देश जारी किया गया. जिसमें दिव्यांगजनों और इनकी सहायता करने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं को पास देने का निर्देश दिया गया. लेकिन राज्य में इसका पालन नहीं किया जा रहा.

रामगढ़, जमशेदपुर जैसे जिलों को छोड़ कर अन्य जिलों में सामाजिक कार्यकर्ताओं को जिला प्रशासन की ओर से मिलने वाले पास में परेशानी हो रही है.

जबकि केंद्रीय कार्यालय की ओर से निर्देश दिया गया था कि दिव्यांगजनों को किसी तरह की परेशानी न हो इसका जिला प्रशासन ध्यान रखें.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना का असर :  राज्य के सरकारी स्कूलों में व्हाट्स एप ग्रुप बनाकर क्लास की तैयारी, देवघर जिला ने की शुरुआत

दिव्यांग बच्चों और वृद्धों पर करना है फोकस

दिव्यांगजन मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से दिव्यांग बच्चों और वृद्धों पर फोकस करने का निर्देश है. इसके लिये नोडल पदाधिकारी राज्य निशक्तता आयुक्त है. दिव्यांगजनों के लिए काम कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं से जानकारी हुई कि अलग-अलग कार्य के लिए पास जारी किये जा रहे हैं. किसी को खाना बांटने, किसी को पानी या दवाई आदि के लिए.

साथ ही क्षेत्र भी निर्धारित किया गया है. जिससे कोई भी सामाजिक कार्यकर्ता एक निश्चित क्षेत्र के बाहर नहीं जा सकें. लॉकडाउन के कारण देश भर में हो रही दिव्यांगजनों की परेशानी को देखते हुए 31 मार्च को दिव्यांगजन मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से दिशा निर्देश जारी किया गया. जिसमें इन निर्देशों के पालन की बात की गयी.

इसे भी पढ़ेंः इस वैश्विक महामारी के दौर में भी अमेरिकी राष्ट्रपति की गैर मानवीय नीतियां ही सामने आ रही हैं

आयुक्त ने लिखा सभी उपायुक्तों को पत्र

राज्य निशक्तता आयुक्त की ओर से इस संबध में सभी उपायुक्तों को पत्र लिखा गया. जिसमें दिव्यांगजन मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से जारी दिशा निर्देशों के पालन की बात की गयी है. इस पत्र में कहा गया है कि भारत सरकार दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग की ओर से इस क्षेत्र में कार्य कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं को पास दिया जाना है. जिससे मुख्य फोकस बच्चों और वृद्धजनों पर करना है.

ऐसे में पास नियमित रूप से जारी किया जायें. बात करते हुए मुख्य निशक्तता आयुक्त ने कहा की कुछ जिलों में पास दिये गये है. लेकिन कुछ जिलों में पिछले कुछ दिनों से पास नहीं मिलने की शिकायत आ रही है. ऐसे में दिव्यांगजनों की परेशानी को देखते हुए यह निर्देश दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः #Indore: पुलिस कर्मी पर पथराव मामले में पांच गिरफ्तार, दो पर रासुका लगाने की सिफारिश

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close