JharkhandLead NewsRanchi

भुगतान के बावजूद 10 घंटे बिजली कटौती कर रहा डीवीसी, उद्योग-धंधे प्रभावित

सात जिलों में तीन महीने से जारी है दस घंटे तक की बिजली कटौती

Ranchi: पिछले साल नंवबर से जारी डीवीसी की बिजली कटौती कम नहीं हो रही. राज्य के सात जिलों में बिजली संकट गंभीर हो चुकी है. जहां आम जन जीवन बिजली कटौती से परेशान है. वहीं, उद्योगों को इसके परिणाम झेलने पड़ रहे हैं. नवंबर से कटौती की जा रही है.

100 करोड़ भुगतान के बाद भी 70 करोड़ बकाया

जेबीवीएनएल से मिली जानकारी के मुताबिक डीवीसी का वर्तमान में कुल बकाया 21 हजार करोड़ रुपये है. और जेबीवीएनएल हर महीने 100 करोड़ भुगतान कर रहा है. नवंबर से जनवरी तक ये भुगतान किया गया. वहीं, वार्ता भी लगातार हो रही है लेकिन बात नहीं बन रही. डीवीसी बिजली कटौती कम करने को तैयार नहीं है. बता दें डीवीसी राज्य को हर महीने 170 करोड़ की बिजली आपूर्ति करता है. ऐसे में हर महीने 100 करोड़ भुगतान होने पर, 70 करोड़ बकाया हो जा रहा है. इधर, डीवीसी पूर्व से बकाया राशि भुगतान करने को कह रहा है. मामले में केंद्रीय हस्तक्षेप के बाद, दो बार राज्य मद से कटौती भी हुई है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ेंः 17 साल बाद परिवहन निगम के 1240 कर्मियों को मिलेगा पंचम वेतनमान का बकाया

The Royal’s
Sanjeevani

छह नवंबर से हो रही कटौती

राज्य में पहली बार है जब डीवीसी लगातारी तीसरे महीने बिजली कटौती कर रहा है. छह नवंबर से राज्य के सात जिलों में कटौती जारी है. शुरूआत में कटौती 20 फीसदी की गयी, लेकिन अब यह कटौती 60 से 70 फीसदी हो रही है. गिरिडीह के व्यवसायी निर्मल झुनझुनवाला ने जानकारी दी कि रोजाना दस घंटे की कटौती जारी है. जनवरी के शुरूआती दिनों में दो से तीन घंटे तक कटौती की गयी. लेकिन यह स्थिति सिर्फ चार पांच दिन रही. लेकिन अब फिर से कटौती दस घंटे कर दी गयी है. जबकि इन जिलों में प्लास्टिक, पाइप, ल्यूब्रिकेशन, फाइबर उद्योग लगे हैं. जो पूरी तरह बिजली पर निर्भर हैं. इन इकाईयों में कच्चा माल खराब हो रहे हैं. लंबे समय तक डीजल पर निर्भर रहना भी इन उद्योगों के लिये संभव नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः  मुंबई में 20 मंजिला इमारत में लगी आग, 7 लोगों की मौत

दस घंटे हो रही कटौती

डीवीसी कमांड के सात जिलों में दस घंटे बिजली कटौती की जा रही है. औद्योगिक संचालकों से जानकारी मिली कि ये कटौती पीक ऑवर में हो रही है. जो अमूमन सुबह नौ बजे के बाद है. ऐसे में उद्योगों के लिये ये संकट की स्थिति पैदा कर रहा है. डीवीसी राज्य के धनबाद, बोकारो, गिरिडीह, हजारीबाग, रामगढ़, कोडरमा, चतरा में बिजली आपूर्ति करती है. इन इलाकों के छोटे बड़े कारोबारियों के लिये से परेशानी का सबब है. क्योंकि अधिकांश उद्योगों की निर्भरता बिजली पर है.

 

Related Articles

Back to top button