न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

उपसभापति चुनाव: बीके हरिप्रसाद हो सकते हैं साझा विपक्ष के उम्मीदवार

एनडीए को मिलेगा बीजेडी का साथ: सूत्र

254

NewDelhi: राज्यसभा के उपसभापति के लिए कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद साक्षा विपक्ष के उम्मीदवार होंगे.हालांकि अभी तक उनके नाम की औपचारिक घोषणा नहीं हुई है. जबकि मंगलवार को विपक्ष की ओर से एनसीपी की वंदना चव्हाण का नाम सामने आया था. 9 अगस्त को होनेवाली वोटिंग के लिए बुधवार को 12 बजे तक ही नामांकन करना है. विपक्ष ने उम्मीदवार चुनने का अधिकार कांग्रेस को दिया था. इधर, सूत्रों के हवाले से इस चुनाव की अहम कड़ी नवीन पटनायक की बीजेपी ने एनडीए उम्मीदवार के समर्थन देने की खबर है. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक से हरवंश का समर्थन करने की अपील की थी.

इसे भी पढ़ेंःमसानजोर डैम पर झारखंड-बंगाल में बढ़ता तनाव, मंत्री लुइस के बाद भाजयुमो अध्यक्ष की ममता सरकार को दो टूक

एनसीपी का चुनाव लड़ने से इनकार

विपक्ष की तरफ से शरद पवार की नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) ने भी लड़ने से इनकार कर दिया है. पहले खबर थी कि विपक्ष एनसीपी की सांसद वंदना चव्हाण को उम्मीदवार बना सकता है. विपक्ष के उम्मीदवार के लिए मंगलवार शाम विपक्षी दलों के नेताओं की बैठक भी हुई.

राजग उम्मीदवार का समर्थन करेगी शिवसेना

शिवसेना ने मंगलवार को साफ कर दिया कि राज्यसभा के उपसभापति पद के चुनाव के लिए वह राजग के उम्मीदवार का समर्थन करेगी. शिवसेना से राज्यसभा के सदस्य संजय राउत ने बताया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से बात कर नौ अगस्त को होने वाले चुनाव के लिए समर्थन मांगा था. राउत ने भाषा से कहा कि अमित शाह ने मंगलवार को उद्धव ठाकरे से बात की और शिवसेना से समर्थन मांगा. हमने जद (यू) उम्मीदवार का समर्थन करने का फैसला लिया है क्योंकि उपसभापति का पद गैर-राजनीतिक है

इसे भी पढ़ेंःजेपीएससी पीटी के पुनर्संशोधित रिजल्ट का विरोध शुरू, गोलबंद हो रहे हैं छात्र संगठन

silk_park

एनडीए-यूपीए दोनों के लिए चुनौती

इस चुनाव में एनडीए और यूपीए के पास नंबर जुटा पाना एक बड़ी चुनौती है क्योंकि दोनों ही पक्षों के पास जीत के लिए जरुरी आंकड़े नहीं है. वर्तमान में उच्च सदन में 244 सदस्य हैं. यदि चुनाव की स्थिति में सभी सदस्य उपस्थित रहते हैं तो जीत के लिए 123 सदस्यों के समर्थन की आवश्यकता होगी. सदन में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है जिसके 73 सदस्य हैं. वही वर्तमान में राज्यसभा में एनडीए के पास 115 सीटें हैं. वही कांग्रेस के 50 सदस्य हैं, जबकि यूपीए के पास 113 सीटें हैं. ऐसे में राज्यसभा में 9 सीटों वाला बीजू दल जीत हार के खेल में किंगमेकर की भूमिका निभा सकता है.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीह कॉलेज में पुस्तक खरीद घोटाला, टेंडर के विपरीत सप्लाई कर दी गईं लाखों की किताबें

गौरतलब है कि हाल ही में सेवानिवृत्त हुये उपसभापति पी जे कुरियन का कार्यकाल पिछले महीने यानी जुलाई में खत्म हो गया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: