न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गोमिया में बन रहे दो पंचायत भवन को लेकर उपप्रमुख ने की सीएस से शिकायत

मामला बोकारो जिला अंतर्गत गोमिया प्रखंड में बने पंचायत भवनों के निर्माण से जुड़ा है

363

Ranchi: बोकारो जिला अंतर्गत गोमिया प्रखंड की उपप्रमुख मीना देवी ने मुख्य सचिव को पत्र लिख पंचायत भवनों के निर्माण में हुई अनियमितता की शिकायत की है. पत्र में उन्होंने कहा है कि प्रखंड के लोधी एवं चुट्टे पंचायत भवनों का एकरारनामा वर्ष 2010 में तत्कालीन कनीय अभियंता के नाम पर किया गया है. पूरे पंचायत भवन की प्राक्कलित राशि लगभग 21 लाख रुपये की थी. जिसमें नीचे तल्ले की प्राकल्लित राशि 11.45 लाख रुपये की थी. इस राशि की स्वीकृति 2010 में हुई थी. लेकिन स्वीकृति के तुरंत बाद ही 24 जून से 9 अक्टूबर के बीच करीब 11.25 लाख रुपये की निकासी प्रखंड कार्यालय के पदाधिकारी और सहायक के मिलीभगत से कर ली गयी. जबकि उस समय तक किसी तरह का कोई कार्य नहीं हो सका था. एक बार फिर उसी योजनाओं का रिस्टीमेट कर निचले तल्ले के नाम पर अतिरिक्त 4.75 रुपये की निकासी कर ली गयी. जो कि बहुत ही संदेहास्पद है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड बीजेपी के इन पांच चेहरों ने निभायी जीत में बड़ी जिम्मेदारी

योजना का निर्माण अनियमितता को दर्शाता है.

मीना देवी का कहना है कि गत वर्ष मार्च माह में उन्होंने गोमिया बीडियो को पत्र लिख कर सहायक अभियंता से पूरे मामले की जांच करने की बात कही थी. जांच के दौरान पाया गया था कि पंचायत भवन का निचला तल्ला तो लगभग पूरा हो गया है. लेकिन बाथरूम सह शौचालय के फर्श पर टाईल्स नहीं लगा है. छत और सीढ़ी की दीवार पर प्लास्टर नहीं किया गया है. पानी के लिए केवल बोरिंग की गयी है, जिसका उपयोग कर पाना संभव नहीं है. बिजली का कार्य भी नहीं किया गया है. शौचालय के सॉकपीट पर ढक्कन की व्यवस्था नहीं है. साथ ही पंचायत भवन में जेनरेटर की सुविधा भी नहीं दी गयी है. ऐसा होने के बावजूद अभिकर्ता को अग्रिम 16 लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया है. जो कि पूरी अनियमिता को दर्शाता है.

इसे भी पढ़ें – पारिवारिक संपत्ति बंटवारा दस्तावेज के निबंधन में अब लगेंगे मात्र 100 रुपये

Related Posts

राज्य के सभी 36 हजार सरकारी स्कूलों में बनाये जायेंगे सोक पिट, गर्मियों में काम आयेगा पानी

कल बनायें, जल बचायें अभियान : स्कूल प्रबंधन समिति, स्थानीय पंचायत और जनप्रतिनिधियों के आपसी सामंजस्य से होगा निर्माण

SMILE

दोषी के खिलाफ जांच की मांग

उपप्रमुख ने मुख्य सचिव से कहा है कि योजनाओं के अनियमितता में संलिप्त दोषियों के खिलाफ जांच की जरूरत है, ताकि जांच उपरांत सच्चाई को सामने लाया जा सके.

इसे भी पढ़ें- नगर निगम क्षेत्र में गहराते जलसंकट पर भाकपा माले ने किया आयुक्त का घेराव, टैंकर से पानी की आपूर्ति की मांग

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: