न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कृषि विभाग डिप्लोमा धारियों और आइटीआइ उत्तीर्ण विद्यार्थियों को देगा कौशल विकास का प्रशिक्षण

किसानों, महिलाओं, स्वंय सहायता समूहों को दिये जानेवाले कृषि उपकरणों की मरम्मत का काम करेंगे प्रशिक्षित युवा

1,261

Ranchi:  राज्य के डिप्लोमा धारी, आइटीआइ उत्तीर्ण छात्रों को कृषि उपकरणों के रख-रखाव का प्रशिक्षण दिया जायेगा. ऐसे युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण के तहत कृषि और गन्ना विकास विभाग के झारखंड कृषि मशीनरी प्रशित्रण केंद्र रांची में एक माह का नि:शुल्क ट्रेनिंग दिया जायेगा. 27 फरवरी से यह प्रशिक्षण शुरू होगा.  इसके लिए सभी जिलों के जिला कृषि पदाधिकारियों के पास आवेदन मंगाये गये हैं.

अनुदान में दिये गये कृषि यंत्र को ठीक नहीं कराते हैं डीलर

कृषि विभाग की तरफ से अनुदान पर कृषि यंत्र वितरित किये जाते हैं. इसमें ट्रैक्टर, पावर टिलर, रीपर, राइस हॉलर, कल्टीवेटर और अन्य उपकरण शामिल हैं. राज्य सरकार की तरफ से प्रगतिशील किसानों, महिला कृषकों, स्वंय सहायता समूहों को ये कृषि उपस्कर और यंत्र दिये गये हैं, ताकि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक हो सके. सरकार का कहना है कि ऐसा देखा जा रहा है कि अनुदान में दिये गये कृषि उपस्करों का मेटेंनेंस वारंटी की अवधि में नहीं हो पा रहा है. संबंधित डीलरों की तरफ से भी बांटे गये कृषि यंत्रों को बनाने में दिलचस्पी नहीं ली जाती है. ऐसे में सरकार की तरफ से युवाओं की टीम तैयार की जा रही है, जो गांवों, टोलों में जाकर इन यंत्रों की खराबी को दूर करेगी.

सरकार ने रांची में स्थापित किया है प्रशिक्षण केंद्र

कृषि विभाग की तरफ से राजधानी के हेहल के पास झारखंड कृषि मशीनरी प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की गयी है. यहां पर एक माह का पाठ्यक्रम चलाया जाता है. अब तक छह बैंच को प्रशिक्षण दिया जा चुका है. अब 150 और युवाओं को प्रशिक्षण देने की योजना बनायी गयी है.

इसे भी पढ़ेंः नक्सलियों के सहयोगी को पुलिस ने कारतूस, विस्फोटक के साथ किया गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: